• Hindi News
  • समाजसेवी दीपचंद गार्डी का मुंबई में निधन

समाजसेवी दीपचंद गार्डी का मुंबई में निधन

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मुंबई -!- समाजसेवी दीपचंद गार्डी का सोमवार को मुंबई में निधन हो गया। वे 99 वर्ष के थे। मुंबई के निजी अस्पताल में उन्होंने अंतिम सांस ली। मंगलवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। गार्डी के पुत्र डॉ. रश्मि भाई तथा हसमुख भाई ने पिता को मुखाग्नि दी। उन्हें अंतिम विदाई से पहले उद्यमी मुकेश अंबानी सहित मुंबई के कई गणमान्य लोगों ने श्रद्धांजलि दी। चार दिन पहले तबीयत बिगडऩे पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वे 25 अप्रैल को 100वां साल के होने वाले थे।
दान सेवा से महकाया हर क्षेत्र-वर्ग : नियमित दान करना दीपचंद भाई की दिनचर्या का हिस्सा था। दिन की शुरूआत वे दान देने के बाद ही करते थे। उनके इस दान सेवा संकल्प का लाभ वैश्यावृत्ति में फंसी महिलाओं,गरीबों तथा मुस्लिम समुदाय तक सभी को मिला। नागपुर में इन्हीं दीपचंद ने वैश्यावृत्ति में लिप्त 400 महिलाओं का पुनर्वास करवाया था।


125 एड्स पीडि़त बच्चों के पुनर्वास का इंतजाम किया। 150 मुस्लिमों को हज यात्रा पर जाने का इंतजाम किया ।
--------------------
शिक्षा-स्वास्थ्य पर जोर: मध्यप्रदेश के उज्जैन में रूकमणि दीपचंद गार्डी नाम से विशालकाय अस्पताल चलता है। जहां पलंग-खानपान और ऑपरेशन सहित सब कुछ नि:शुल्क है। गुजरात में 250 स्कूल , 125 अस्पताल दीपचंद ने बनवाए। स्वास्थ्य,शिक्षा व समाज सेवा में सक्रिय संगठनों को वे नियमित दान देते रहते थे।