• Hindi News
  • सिर्फ भावनाओं के भरोसे नहीं चल सकते क्षेत्रीय स्टॉक एक्सचेंज : यूके सिन्हा

सिर्फ भावनाओं के भरोसे नहीं चल सकते क्षेत्रीय स्टॉक एक्सचेंज : यूके सिन्हा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जयपुर -!- भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड ((सेबी)) अध्यक्ष यूके सिन्हा ने कहा है कि क्षेत्रीय शेयर बाजारों को सिर्फ भावनाओं के आधार पर नहीं
चलाया जा सकता। अब बदलाव के दौर में रीजनल एक्सचेंजों का अस्तित्व सिमट कर रह गया है और अब एक्सचेंज बिजनेस आसान नहीं रहा है।सिन्हा सोमवार को यहां पीएचडी चैंबर की ओर से आयोजित निवेशक संरक्षण और शिक्षा के नए प्रयास विषयक सेमिनार में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि एक जमाना था जब कंपनियों की क्षेत्रीय शेयर बाजार में लिस्टिंग अनिवार्य हुआ करती थी लेकिन इस नियम को खत्म हुए ही एक दशक से अधिक समय बीत गया। अब ऐसे एक्सचेंजों के पास अपनी स्वयं की लिस्टिंग कंपनियां ही नहीं रहीं तो उनका कारोबार घाटे का सौदा हो गया है। सिन्हा ने किसी स्थान अथवा व्यक्ति विशेष का नाम लिए बगैर कहा कि यदि कोई यह कहे कि मैंने शेयर बाजार की स्थापना की और अपने जीवन के चार दशक इसे दिए और इसी आधार पर क्षेत्रीय शेयर बाजार का अस्तित्व बना रहे, तो यह नामुमकिन है। जयपुर स्टॉक एक्सचेंज के संस्थापक डॉ केएल जैन ने कहा कि
कंपनियों की धोखाधड़ी से परेशान निवेशकों के लिए मुआवजे का प्रावधान भी होना चाहिए। इस अवसर पर आयोजित सेबी व कंपनी मामलों के विभाग की ओर से चलाए जा रहे निवेशक संरक्षण और शिक्षा विषयक पैनल डिस्कशन भी किया गया।