• Hindi News
  • कला के रंगों के दिलकश छींटे

कला के रंगों के दिलकश छींटे

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
क सिटी रिपोर्टर भोपाल
बीएचईएल के कल्चरल हॉल में मंगलवार के ‘नार्थ जोन सेंट्रल रेवेन्यू कल्चरल मीट’ का आयोजन किया गया। इसमें देश के विभिन्न शहरों के इनकम टैक्स विभाग और सेंट्रल एक्साइज के एम्पलॉइज ने हिस्सा लिया। ईवेंट में वोकल म्यूजिक, क्लासिकल, इंस्ट्रूमेंटल, फोक सॉन्ग, सोलो डांस और ड्रामा कॉम्पिटीशन हुए। कार्यक्रम में संजय दुधाने ने किशोर कुमार के गीत ‘कहना है कहना है...’, ‘प्यार दीवाना होता है मस्ताना होता है...’ जैसे गीत सुनाए। वहीं, सोलो डांस में कानपुर के अभिषेक वाजपेयी ने वेस्टर्न डांस की रॉकिंग परफॉर्मेंस दी। इंस्ट्रूमेंटल में कानपुर के मनमोहन ने माउथ ऑर्गन पर ‘याद किया दिल ने कहां हो तुम...’, ‘ईचक दाना बीचक दाना...’ की मैलोडियस धुन सुनाई। साथ ही क्लासिकल में राग दरबारी की भी आकर्षक प्रस्तुति दी। इसी क्रम में प्रतिभागी वीरेंद्र कुमार द्विवेदी ने भजन ‘वो काला एक बांसुरी वाला...’ की प्रस्तुति दी। नाट्य प्रस्तुतियों की शृंखला में दिल्ली की टीम ने ‘दस दिन का अनशन’ नाटक में पॉलीटीशियंस पर जबरदस्त सटायर प्रस्तुत किया। इसमें बताया गया कि किस तरह नेता अपने स्वार्थ के लिए अनशन करते हैं। नाटक का निर्देशन राजीव शर्मा ने किया। कानपुर की टीम ने नाटक ‘पागलघर’ का प्रदर्शन किया। अनिल कुमार उपाध्याय के निर्देशन में कलाकारों ने अवधी भाषा में इस नाटक का मंचन किया। इसके बाद दिल्ली के कलाकारों ने ‘जिन लाहौर नहीं वेख्या ओ जन्म्या ही नहीं’ का पंजाबी में मंचन किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि नाट्य निर्देशक सतीश मेहता थे। विजेताओं को नाट्य निर्देशक सतीश मेहता, कमिश्नर सेंट्रल एक्साइज डॉ. डीके वर्मा और आयुक्त अपील सेंट्रल एक्साइज सीमा अरोड़ा ने पुरस्कृत किया। कॉम्पिटीशन में जजेस के रूप में जुल्फीकार अली, रेखा श्रीवास्तव और संजय दुधाने उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन कविता इसराणी ने किया।



कॉम्पिटीशन के विनर्स

म्यूजिक ((वोकल एंड क्लासिकल)) : प्रकाश परनेकर, इंस्ट्रूमेंटल : एमएम मिश्रा, क्लासिकल सॉन्ग : गोपाल कृष्ण, फोक सॉन्ग : सेंट्रल एक्साइज, दिल्ली, सोलो डांस : अभिषेक वाजपेयी, ड्रामा : सेंट्रल एक्साइज, दिल्ली।

भेल कल्चरल हॉल में मंगलवार को ‘नार्थ जोन सेंट्रल रेवेन्यू कल्चरल मीट’ का आयोजन किया गया।

ष्ह्वद्यह्लह्वह्म्ड्डद्य द्ग1द्ग

 भेल के कल्चरल हॉल में मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में शास्त्रीय गीत की प्रस्तुति देते शौकिया कलाकार।