• Hindi News
  • 000प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारों में कीर्तन दरबार व दीवान सजे

000प्रकाश पर्व पर गुरूद्वारों में कीर्तन दरबार व दीवान सजे

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल-!- हमीदिया रोड नानकसर समेत अन्य गुरुद्वारों में मंगलवार को गुरु गोविंदसिंह का प्रकाश उत्सव मनाया गया। गुरुद्वारों में सुबह से शाम तक मत्था टेकने पहुंचने वालों का तांता लगा रहा। कीर्तन दरबार और दीवान भी सजाए गए।
मुख्य आयोजन अरेरा कॉलोनी और हमीदिया रोड गुरुद्वारे में हुआ। यहां कीर्तन दरबार में गुरुओं की शौर्य गाथा का वर्णन करते हुए अमृतसर के ज्ञानी जगतार सिंघ ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह जुल्म और जबर के खिलाफ थे।



उन्होंने खालसा पंथ की स्थापना कर पांच प्यारे बनाए। स्वर्ण मंदिर अमृतसर के हजूरी रागी जत्था के भाई गुरमीत सिंघ ने गुरवाणी कीर्तन कर संगत को निहाल किया। गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष ज्ञानी दलीप सिंह समेत जोगिंदर सिंह धीर, मंजीत कौर, राजिंदर सिंह आदि उपस्थित थे। अरेरा कालोनी गुरूद्वारा में भी सुबह से ही गुरू ग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेकने के लिए श्रद्धालुओं की कतार लगी थी। रागी जत्था ने कीर्तन किया।आनंद नगर गुरूद्वारा में भी प्रकाश पर्व मनाया गया। अध्यक्ष जितेंदर पाल सिंह समेत कई लोग मौजूद रहे।