• Hindi News
  • युवाओं को 10 फीसदी टिकट भी नहीं दिए

युवाओं को 10 फीसदी टिकट भी नहीं दिए

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ञ्चभास्कर रिसर्च टीम . नई दिल्ली/भोपाल



देश में १२ करोड़ से अधिक वोटर पहली बार वोट दे रहे हैं। १८ से 35 साल के कुल वोटर 38 करोड़ 30 लाख हैं। यानी कुल 81.5 करोड़ वोटरों में करीब आधे युवा हैं। एक आशंका यह भी है कि इस आयु के कितने लोग वोट देने जाते हैं? क्योंकि पिछली बार कश्मीर में 31 फीसदी वोटिंग हुई थी, जबकि 50 फीसदी वोटर 18 से 35 वर्ष के थे। कांग्रेस ने चुनाव घोषणा से पहले कहा था- राहुल 50 फीसदी टिकट युवाओं को देने के पक्ष में हैं। राष्ट्रीय स्वयं सेवक में भी हमेशा से कहा है कि अब युवाओं को राजनीति में लाया जाना चाहिए। हालांकि भाजपा ने भले ही कांग्रेस से ज्यादा टिकट युवाओं को दिए हैं लेकिन वह भी इस मामले कोई बहुत ज्यादा साहस नहीं दिखा सकी।

यदि 18 से 35 के बीच के युवा मतदाता 50 फीसदी हैं, तो क्या भाजपा या कांग्रेस 35 साल तक के 50 फीसदी प्रत्याशी खड़े कर सकी है? जवाब है- नहीं। दोनों ही पार्टियां 400 से 425 के बीच प्रत्याशियों की घोषणा कर चुकी हैं। लेकिन 10 फीसदी युवाओं को भी टिकट नहीं दिए।

ञ्च40 साल से कम उम्र वालों को पार्टी ने पूरे देश में उत्तर प्रदेश में 9 टिकट, राजस्थान में 5 टिकट और केरल में 4 प्रत्याशियों को टिकट दिए हैं।

ञ्चराज्यों के लिहाज से देखा जाए तो 40 साल से कम आयु के सबसे ज्यादा करीब 5 टिकट कांग्रेस ने उप्र में बांटे। छत्तीसगढ़, हरियाणा, मप्र और केरल में तीन टिकट दिए हैं।

भाजपा ने 400 से अधिक टिकट बांटें हैं। उपलब्ध हलफनामों के मुताबिक भाजपा ने करीब 38 टिकट 40 साल से कम के युवाओं को दिए हैं। इसमें सबसे कम उम्र ((2५)) की प्रत्याशी नंदूरबार से डॉ. हीना गावित हैं। एमबीबीएस के बाद एमडी कर रहीं हीना कांग्रेस के दिग्गज माणिकराव गावित के सामने हैं। हीना के पिता विजय गावित महाराष्ट्र की कांग्रेस-राकांपा सरकार में मंत्री रहे। हाल ही में हीना के भाजपा से जुडऩे के बाद उनको मंत्री पद से हटा दिया गया।



कांग्रेस ने 416 टिकट दिए हैं। जिन प्रत्याशियों ने नामांकन भरते समय जो आयु बताई है, उसके अनुसार 32 टिकट 40 साल से कम की आयु वालों को दिए हैं। इसमें से भी सबसे कम आयु २७ वर्ष के प्रत्याशी हैं, मेघालय के डेरिल विलियम चेरन मोमिन। यहां पर मतदान हो चुका है। इसी सीट के लोगों को पहले भी सबसे कम आयु की प्रत्याशी संसद में भेजने का श्रेय जाता है। पहले यहां से पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पीए संगमा की बेटी अगाथा संगमा संसद में गई थीं। विलियम का मुकाबला पीए संगमा से रहा।





पॉलिटिक्स . भाजपा से लड़ रही 25 वर्षीय हीना गावित सबसे कम उम्र की प्रत्याशी