• Hindi News
  • Mp
  • Gwalior
  • जन्म रहस्य ने खोलीं जीवन की गुत्थियां
--Advertisement--

जन्म रहस्य ने खोलीं जीवन की गुत्थियां

सिटी रिपोर्टर ग्वालियरहर व्यक्ति का अस्तित्व होता है। कई बार अच्छे भले जीवन में अस्तित्व की इस खोज के चक्कर में...

Dainik Bhaskar

Mar 14, 2014, 03:24 AM IST
सिटी रिपोर्टर ग्वालियर
हर व्यक्ति का अस्तित्व होता है। कई बार अच्छे भले जीवन में अस्तित्व की इस खोज के चक्कर में व्यक्ति को मुश्किल बढ़ जाती हैं। क्योंकि जरूरी नहीं है कि जो कुछ वर्तमान में हो, उसकी नींव किसी झूठ या फिर युवा अवस्था में की गई गलतियों पर रखी गई हो। इसी थीम पर नाटक जन्म रहस्य का मंचन आटिट्स कंबाइन संस्था के दो दिवसीय मराठी नाट्य महोत्सव के अंतर्गत किया गया। इस नाटक में मराठी टीवी आर्टिस्ट ईला भाले ने प्रस्तुति दी। इस अवसर पर संस्था अध्यक्ष सदानंद भागवत, सचिव अशोक आनंद, जयप्रकाश गोरे, निशिकांत बनकर और संयोजक अरुण जोशी मौजूद रहे।
:कहानी : नाटक जन्म रहस्य की कहानी एक युवती की कहानी है जो नायिका है। स्नेहल का रोल इला भाटे ने निभाया है। नाटक में नायक बने हैं राज अवधानी, मां की भूमिका में अमिता खोपकर हैं। वसुधा देशपांडे मौसी की भूमिका में हैं और अजय ने अनाथ की भूमिका निभाई है। इसमें स्नेहल पर दूसरे पिता की बेटी होने के आरोप लगते हैं। उतार-चढ़ाव के बाद नाटक का ताकतपूर्ण ढंग से अंत होता है।
:अभिनय : अभिनय के लिए स्नेहल बनी इला भाटे ने बेहतरीन अभिनय किया है। आई बनी अमिता खोपकर ने शिजोफ्रे निया के रोगी के रूप में दमदार अभिनय से दर्शकों को प्रभावित किया है। स्नेहल बनी इला भाटे, इनी बनी वसुधा देशपांडे और अरुण की भूमिका में राहुल कुलकर्णी का अभिनय भी सराहनीय रहा।



 नाट्य मंदिर में ‘जीवन रहस्य’ का एक दृश्य में परिवार के सदस्य चर्चा करते हुए। फोटो: भास्कर

ह्लद्धद्गड्डह्लह्म्द्ग ह्म्द्ग1द्बद्ग2

नाट्य मंदिर में गुरुवार को मराठी नाटक जीवन रहस्य का मंचन किया गया। इसमें अस्तित्ववाद के चिंतन की खोज को दिखाया गया।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..