• Hindi News
  • बच्चों की लड़ाई में एमआईसी सदस्य कुरवाड़े ने स्कूल प्रबंधक को पीटा

बच्चों की लड़ाई में एमआईसी सदस्य कुरवाड़े ने स्कूल प्रबंधक को पीटा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता -!-इंदौर
दो बच्चों की लड़ाई में स्कूल प्रबंधक ने कार्रवाई नहीं की। इस पर क्षेत्र क्रमांक-2 में वार्ड 33 के पार्षद व एमआईसी मेंबर सुरेश कुरवाड़े इतने नाराज हुए कि वे स्कूल में घुस गए और प्रबंधक को सड़क पर लाकर जमकर पीटा। घटना बजरंग नगर स्थित न्यू फादर एंजिल हाई सेकंडरी स्कूल में हुई। स्कूल प्रबंधक गौरव पारिख के पिता महेंद्र पारिख को क्षेत्र में बड़े सर के रूप में जाना जाता है। वे मौके पर पहुंचे तो उन्हें भी कुरवाड़े ने गालियां दीं और बच्चे को समझा लेने की चेतावनी देकर चले गए। इस पर पिता ने विधायक रमेश मेंदोला को शिकायत की तो वे पारिख से मिलने पहुंचे, फिर कुरवाड़े को बुलाया और जमकर फटकार लगाई। हालांकि कुरवाड़े ने अभी तक पीडि़त परिवार से माफी नहीं मांगी। इससे नाराज मोहल्लेवासियों ने मंदिर समिति की बैठक बुलाकर घटना की निंदा की।
दरअसल, स्कूल में पढऩे वाले दो बच्चों में विवाद हुआ। इनमें से एक कुरवाड़े के मकान मालिक का बच्चा है जिस पर उनका स्नेह है। बच्चे की मां ने गौरव पारिख से शिकायत की तो उन्होंने बच्चों का झगड़ा कहकर बात खत्म करने का कहा। इसी बीच मकान मालिक के बच्चे ने कुरवाड़े को पूरी बात बताई तो वे भड़क गए और 3 जनवरी की सुबह नौ बजे चार-पांच साथियों को लेकर स्कूल पहुंचे और गौरव को सड़क पर लाकर कालर पकड़कर चांटे जड़ दिए। लोग जमा हो गए। इन्हीं में से किसी ने स्कूल प्रिंसिपल व गौरव के पिता महेंद्र को सूचना दे दी। वे दौड़े-दौड़े आए, तब तक कुरवाड़े गौरव को पीट रहे थे। उन्होंने महेंद्र पारिख को भी गालियां देकर भविष्य में ऐसा नहीं करने की चेतावनी दी।




बात खत्म हो गई है

॥छोटी-सी बात थी, मामला खत्म हो गया। मुझे किसी से शिकायत नहीं है।

-गौरव पारिख, स्कूल प्रबंधक व पीडि़त

मेंदोला जी ने डांट लगा दी

॥मैंने किसी को नहीं पीटा, केवल छोटी-सी बात थी। बच्चों ने आपस में माफी मांग ली और बात खत्म हो गई। विधायक मेंदोला ने बुलाकर समझाया था और काफी डांटा भी।

-सुरेश कुरवाड़े, पार्षद व एमआईसी मेंबर

गुस्से में ऐसा कर दिया

॥कुरवाड़े मुझे बड़े भाई के रूप में मानते हैं, पता नहीं वे छोटी-सी बात पर क्यों भड़क गए। ठीक है गुस्से में कई बार इंसान गलती कर जाता है। विधायक मेंदोला ने उन्हें समझाया है। उम्मीद है वे माफी मांग लेंगे। वैसे बात खत्म हो गई है।

-महेंद्र पारिख, स्कूल प्रिंसिपल