• Hindi News
  • आगर रोड की डीपीआर में प्रावधान, एमआईसी लेगी फैसला

आगर रोड की डीपीआर में प्रावधान, एमआईसी लेगी फैसला

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता - उज्जैन
आगर रोड फोरलेन निर्माण में डामरीकरण का काम तेजी से पूरा हो रहा है। कोयला फाटक से इंदौरगेट के बीच डामरीकरण हो जाने से वाहनों की रफ्तार बढ़ गई है। इससे जिला अस्पताल और प्रसूतिगृह के बीच आनेजाने वाले मरीजों तथा उनके परिजनों के लिए खतरा बढ़ गया है। इसे देखते सीएच और प्रसूतिगृह के बीच आवागमन की नई सुविधा का फैसला चुनाव आचार संहिता समाप्त होने के बाद लिया जाएगा।
सिंहस्थ2016 की तैयारी में आगर रोड को फोरलेन बनाया जा रहा है। इस रोड पर कृषि उपज मंडी, जिला अस्पताल, देवासगेट बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन भी हैं, इसलिए फोरलेन की डीपीआर में आवागमन सुविधाओं का भी ध्यान रखा गया है। खासकर जिला अस्पताल और सख्याराजे प्रसूतिगृह के बीच आवागमन करने वालों को सबसे ज्यादा खतरा माना गया। इसलिए दोनों के बीच अंडरपास, एसकेलेटर, फुट ओवरब्रिज जैसी कोई सुविधा विकसित की जाना है। चूंकि पेयजल पाइप लाइन, बिजली व्यवस्था व सड़क निर्माण का काम लगभग पूरा हो गया है। ऐसे में अंडर पास की जगह एसकेलेटर या फुट ओवरब्रिज बनाने की संभावना ज्यादा है। नगर निगम दोनों ही विकल्पों पर विचार कर रहा है।
निगमायुक्त विवेक श्रोत्रिय ने दो दिन पहले आगर रोड के एकएक बकाया काम की सूची तैयार कराई है। इसी में अंडरपास का मामला भी सामने आया। चुनाव आचार संहिता के चलते सीएच और प्रसूतिगृह के बीच आवागमन की व्यवस्था तय करने का फैसला नहीं हो पा रहा है। यह फैसला महापौर परिषद को लेना है। इसकी बैठक अब आचार संहिता समाप्त होने पर ही होगी। तब तब अधिकारी दोनों तरह के विकल्पों पर योजना तैयार करेंगे। निगमायुक्त के अनुसार योजना का प्रस्ताव एमआईसी में रखा जाएगा।




सीएच-प्रसूतिगृह के बीच होगी आवागमन की नई सुविधा