• Hindi News
  • पूर्व गृहमंत्री सहित 12 को जमानत

पूर्व गृहमंत्री सहित 12 को जमानत

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता. जावरा
आचार संहिता उल्लंघन मामले में पूर्व गृहमंत्री कैलाश चावला सहित 12 भाजपा नेताओं ने शनिवार को पुलिस के सामने सरेंडर किया। पुलिस ने उन्हें कोर्ट में पेश किया, जहां से जमानत मिल गई। भाजपा विभाग संगठन मंत्री ब्रजेश चौरसिया कोर्ट परिसर जरूर पहुंचे लेकिन पेश नहीं हुए। उन्होंने बताया मैंने एसपी को आवेदन देकर गलत प्रकरण दर्ज होने के बारे में जानकारी दी है।
बिना अनुमति सभा करने के मामले में गुरुवार को सिटी थाना पुलिस ने पूर्व गृहमंत्री, विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय सहित 14 भाजपा नेताओं के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन का प्रकरण दर्ज किया था। शुक्रवार को महज पूर्व नपा चेयरमैन मोहन पटेल की गिरफ्तारी हो सकी थी। पटेल ने उसी दिन कोर्ट से जमानत करवाई। शनिवार दोपहर 3 बजे पूर्व गृहमंत्री, विधायक सहित 12 नेताओं ने पुलिस के सामने सरेंडर किया। सभी को कोर्ट से 7-7 हजार रुपए की जमानत दी गई।
गुट दो लेकिन जमानतदार एक-शहर में काफी समय भाजपा के दो गुट हैं। लोगों को उस समय आश्चर्य हुआ जब दोनों की जमानत एक ही जमानतदार शरद मेहता ने दी। लोग यहां तक कह गए कि जिन दो गुटों को संगठन मंत्री तक एक जाजम पर नहीं ला पाए उन्हें पुलिस ने नजदीक ला दिया।




इनको मिली जमानत

पूर्व गृहमंत्री, विधायक, नपाध्यक्ष निर्मला हाड़ा, प्रकाश मेहरा, चंद्रप्रकाश ओस्तवाल, डॉ. दिलीप शाकल्य, विजय ओरा, अभय कोठारी, महेश सोनी, अशोक जैन आंटिया, नंदकिशोर महावर, पवन सोनी को जमानत मिली। पैरवी एडवोकेट अब्दुल हकीम खान, पुखराज सोनगरा, धर्मेंद्रसिंह सिसौदिया ने की।

विभाग संगठन मंत्री बोले मेरा मामला जांच में

भाजपा विभाग संगठन मंत्री ब्रजेश चौरसिया पर भी प्रकरण है लेकिन उन्होंने जमानत नहीं ली। वे कोर्ट परिसर पहुंचे जरूर। उन्होंने बताया मैंने मामले में एसपी को आवेदन देकर बताया है कि मैं मौके पर नहीं था। मेरे खिलाफ गलत प्रकरण बनाया है। मामला जांच में होने से मैंने जमानत नहीं करवाई है। जांच के बाद जैसी स्थिति बनेगी कदम उठाया जाएगा। एसपी जी.के. पाठक ने बताया विभाग संगठन मंत्री चौरसिया ने पत्र दिया। इसमें उन्होंने बताया मैं उस दिन सतना गया था और यहां उतरकर कार्यक्रम खत्म होने के बाद बाहर कार्यकर्ताओं से मिला था। जांच की जा रही है।

भांग पी है, अब पुलिस को लहर पता चलेगी

पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई पर पूर्व गृहमंत्री चावला ने प्रेस को बताया कि पुलिस ने भांग पी है, अब उन्हें लहर पता चलेगी।



जमानत के लिए पहुंचे पूर्व गृहमंत्री कैलाश चावला, विधायक डॉ. राजेंद्र पांडेय आदि।