• Hindi News
  • राम ने तोड़ा धनुष, जानकी से विवाह

राम ने तोड़ा धनुष, जानकी से विवाह

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर -!- मंदसौर
संजय गांधी उद्यान में हो रही रामकथा में मंगलवार को भगवान राम ने जैसे ही धनुष तोड़ा पांडाल श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा। राम-जानकी विवाह प्रसंग पर फूल बरसाए।
श्री सुयश रामायण मंडल द्वारा आयोजित रामकथा में पंडित दशरथ भाई ने कहा श्रीराम व माता जानकी का विवाह प्रसंग गृहस्थ जीवन के सिद्धांतों का पालन करने का संसार में श्रेष्ठ उदाहरण है। मानव का स्वभाव राम तरह होना चाहिए। उन्होंने हमेशा गुरु आज्ञा को माना। गुरु के आदेश पर असुरों का विनाश किया। स्वयंवर में परशुराम के धनुष को तोड़ा। उन्होंने कहा गुणी व उत्तम आचरण वाली कन्या को हमेशा उत्तम वर मिलता है। माता जानकी के स्वयंवर में कई राजा, महाराजा आए लेकिन विनम्र राम ही धनुष उठा सके।
कथा में विधायक यश्यापालसिंह सिसौदिया ने पोथी आरती की। भाजपा जिला उपाध्यक्ष महेंद्र चौरडिय़ा, मनोज पामेचा, विजय पामेचा, विपिन अग्रवाल, कैलाश खंडेलवाल भी कथा में पहुंचे।