• Hindi News
  • कल्पद्रुम महामण्डल विधान के दौरान निकाली महायात्रा

कल्पद्रुम महामण्डल विधान के दौरान निकाली महायात्रा

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गुना-!-ऋषभदेव के ज्येष्ठ पुत्र और भारतवर्ष के प्रथम चक्रवर्ती राजा भरत ने संपूर्ण विश्व को जीतने के लिए दिग्विजय यात्रा निकाली। चक्रवर्ती को ३२ हजार मुकुटधारी राजाओं ने झुककर प्रणाम किया और जय जयकार की। चक्रवर्ती द्वारा विश्व जीतने के बाद धर्म चक्र के साथ महायात्रा निकाली। यह सीन कल्पद्रुम महामण्डल विधान के दौरान आया। यह महा विधान चक्रवर्ती द्वारा ही कराया जाता है। जिसमें इंद्र- इंद्राणी, देवेंद्र सभी शामिल होते हैं। शहर में निकली महायात्रा के दौरान जिसने जो मांगा उसे वो दान स्वरूप दिया गया। मंगलवार को िनकाली गई यह महायात्रा देखते ही बनती थी। एक छोर हनुमान चौराहे पर था तो दूसरा चोर सुगन चौराहे पर चल रहा था। - विस्तृत खबर अंदर के पेज पर