पेज 7 की लीड...

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता - बुरहानपुर
शुक्रवार शाम आदिलपुरा क्षेत्र के लोगों ने इतवारा निवासी किशोर वाढ़े को फर्जी राशनकार्ड का सर्वे करते पकड़ा। लोगों ने संदेह पर उससे पूछताछ की तो वह साइकिल और बैग लेकर भाग निकला। लोगों ने पीछा कर हम्मालों की मदद से उसे ट्रांसपोर्ट नगर में पकड़ लिया। साइकिल और बैग सहित किशोर को लोगों ने गणपति नाका थाने लाकर पुलिस के हवाले कर दिया।
पुलिस को जांच में किशोर से एक रजिस्टर मिला है। इसमें करीब 100 से अधिक लोगों के नाम, पते दर्ज हैं। पूछताछ में किशोर ने बताया वह नगर निगम और पार्षद सुरेश नवलखे के कहने पर फर्जी राशनकार्ड का सर्वे कर रहा था। पुलिस ने पार्षद श्री नवलखे को गणपति नाका थाने बुलाया। पूछने पर उन्होंने कहा ऐसे किसी सर्वे के लिए किसी को नहीं भेजा है। पुलिस ने एमागिर्द पंचायत सचिव योगेश महाजन से पूछताछ की तो उन्होंने भी इस प्रकार के सर्वे से इनकार कर दिया।




सर्वे कर पाना चाहता हूं निगम में नौकरी

पुलिस ने किशोर के साथ सख्ती से पूछताछ की तो उसने कहा साहब नगर निगम में नौकनी पाने के लिए सर्वे कर रहा हूं। सोचा सर्वे कर निगम के अफसरों को बताऊंगा तो खुश होकर मुझे नौकरी पर रख लेंगे। किशोर ने बताया वह कक्षा 11वीं तक पढ़ा है। पिता का निधन हो चुका है। वह मां के साथ रहता है। पार्षद श्री नवलखे ने बताया युवक गरीब परिवार से है। वें उसे जानते है लेकिन ऐसा क्यों कर रहा है इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है।

मनरेगा सब इंजीनियर के नाम मिला विड्रॉल फार्म

जांच में पुलिस को किशोर के पास से बैंक के कुछ विड्रॉल फार्म मिले। इसमें 500 से 1 लाख रुपए तक के फार्म भरे हुए थे। इनमें मनरेगा सब इंजीनियर राजेंद्र घेटे के नाम से 85 हजार रुपए का विड्रॉल फार्म भी था। उस पर बाकायदा जनपद सीईओ के साइन और सील लगी थी। कुछ विड्रॉल और फार्म पर जनपद सीईओ, निगमायुक्त, जिला सहकारी बैंक प्रबंधक के साइल और सील लगी थी।

पांच दिन से रजिस्टर में लिख रहा था नाम-पते

जानकारी के अनुसार किशोर पिछले पांच दिन से आदिलपुरा में सर्वे कर रहा था। साइकिल से घर-घर जाकर वह लोगों से राशनकार्ड ले रहा था। रजिस्टर में नाम-पते लिख रहा था। उसने फार्म पर कुछ महिलाओं के पासपोर्ट साइज फोटो भी चस्पा कर रखे थे। क्षेत्र के शेख भूरा को उस पर संदेह हुआ। भूरा ने उससे पूछताछ की तो कहने लगा राशनकार्ड का सर्वे कर रहा हूं।

छुप गया था ट्रक के पीछे

भूरा ने एमागिर्द पंचायत सचिव योगेश महाजन से सर्वे के बारे में पूछा। उन्होंने किसी भी सर्वे से मना कर दिया। सचिव योगेश ने कहा उसे रोककर रखो। भूरा ने किशोर को रोका तो वह साइकिल और बैग लेकर भाग निकला। भूरा ने उसका ट्रांसपोर्ट नगर तक पीछा किया। यहां किशोर एक ट्रक के पीछे छुप गया था। भूरा ने मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद नदीम की मदद से उसे पकड़ा। पुलिस ने पूछताछ कर उसे थाने में बैठाया है। फिलहाल उसके खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया है।

फर्जी राशन कार्ड का सर्वे कर रहे युवक को लोगों ने पकड़कर पुलिस के हवाले किया।

500 से 1 लाख रुपए तक जनपद अफसरों सहित अन्य लोगों के नाम भरा मिला बैंक विड्रॉल फार्म



युवक को लोगों ने किया पुलिस के हवाले, उसके पास मिले फार्म पर थे जनपद सीईओ, निगमायुक्त जिला सहकारी बैंक प्रबंधक के साइन-सील, पांच दिन से राशनकार्ड देख भर रहा था फार्म

फर्जी राशनकार्ड का कर रहा था सर्वे, लोगों ने पूछा तो भागा; आधा किमी दौड़कर पकड़ा