• Hindi News
  • किसानों को आने जाने में होगी परेशानी

किसानों को आने-जाने में होगी परेशानी

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर संवाददाता -!- दंतोडिय़ा
रतलाम-फतेहाबाद ब्रॉडगेज से सुविधाएं भी मिलेंगी और समस्याएं भी बढ़ेंगी। बदनारा-दंतोडिय़ा मार्ग को क्रॉस कर रही रेल लाइन पर अब फाटक लग जाएगा। यह सिर्फ दिन में ही खुलेगा रात में नहीं। इससे ग्रामीणों की मुसीबत बढ़ जाएगी क्योंकि उन्हें सिंचाई के लिए रात में ही जाना पड़ता है।
बदनारा-दंतोडिय़ा के ग्रामीणों को रेल लाइन पर फाटक नहीं होने से अभी ज्यादा परेशानी नहीं होती थी।बस उन्हें ट्रेन गुजरने के समय थोड़ी सावधानी जरूर रखनी पड़ती थी। रेलवे सूत्रों के अनुसार अब बदनारा-दंतोडिय़ा मार्ग पर पर रेलवे फाटक लगाने की तैयारी कर रहा है।ऐसा हुआ तो ग्रामीणों को आने-जाने में परेशानी होगी। चूंकि सिंचाई के लिए बिजली रात में मिलती है और किसानों को रात में ही खेत पर जाना पड़ता है। फाटक बंद होने से वे वाहन लेकर एक से दूसरे छोर तक नहीं आ-जा सकेंगे। फाटक बंद होने पर उन्हें पैदल एक से दूसरे छोर जाना पड़ेगा। दिनेशपाटीरदार, सुरेश पाटीदार व धन्नालाल पाटीदार ने बताया यह मुख्य मार्ग है। फाटक बंद रहने से 7 किमी घूम कर गुजरना पड़ेगा। जाना पड़ेगा। पहले तो पैदल व मोटरसाइकिल से निकल जाते थे। अब रेलवे ने इतनी जगह भी नहीं छोड़ी। इससे मुसीबत बढ़ेगी। पीआरओ प्रदीप शर्मा ने बताया अभी ट्रेन चलने की तारीख तय नहीं है। समय आने पर नियमानुसार निर्णय लिया जाएगा।




ये परेशानी

ञ्च दंतोडिय़ा के कई किसानों के खेत बदनारा व बदनारा के किसानों के खेत दंतोडिय़ा में हैं। फाटक बंद होने से ग्रामीण खेत नहीं जा सकेंगे।

ञ्च अधिकांश किसान सब्जी का उत्पादन करते हैं। फाटक बंद होने से इन गांवों से रतलाम में देर से सब्जी आएगी।

ञ्च रोजाना 250 से ज्यादा वाहन गुजरते हैं। इससे आवागमन में दिक्कत होगी।

आपात परिस्थिति में आएगी समस्या - फाटक लगने के बाद ज्यादा समस्या एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड की आवश्यकता पडऩे पर आएगी। इन्हें भी सात किमी घूम कर जाना पड़ेगा। इससे इन्हें आने-जाने में वक्त ज्यादा लगेगा।



बदनारा-दंतोडिय़ा मार्ग को क्रॉस कर रही रेल लाइन पर लगेगा फाटक