• Hindi News
  • खेलों से विकसित होता देशप्रेम

खेलों से विकसित होता देशप्रेम

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर -!- रतलाम
खेल मैदान से ही देशप्रेम का विकास होता है। खिलाड़ी धर्म, जाति, प्रांतीयता से अलग टीम वर्क से जीत हासिल करते हैं। आज के समय में खिलाडिय़ों को मंच देकर खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करना बड़ा कार्य है। यह बात सोलहवें खेल चेतना मेले के शुभारंभ पर मुख्य अतिथि भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरण माहेश्वरी ने कही। नेहरू स्टेडियम में तीन दिवसीय मेले के शुभारंभ समारोह की अध्यक्षता महापौर एवं खेल चेतना मेला संरक्षक शैलेंद्र डागा ने की। कलेक्टर राजीव दुबे, एसपी डॉ. जी.के. पाठक, चेतन्य काश्यप फाउंडेशन अध्यक्ष, शहर विधायक चेतन्य काश्यप, एसडीएम ((शहर)) सुनील कुमार झा, जिला शिक्षा अधिकारी जे.के. शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष बजरंग पुरोहित विशेष रूप से उपस्थित थे।




शुभारंभ पर रैली निकली

शुभारंभ के पहले सुबह 9 बजे शासकीय कला एवं विज्ञान महाविद्यालय से खेल चेतना मेला रैली शुरू हुई। किरण माहेश्वरी ने ध्वज दिखाकर रैली शुरू की। आयोजन समिति सदस्य, खेल संगठनों के प्रमुख व खिलाड़ी रैली में मौजूद थे। आगे-आगे स्कूली विद्यार्थी हाथों में खेल चेतना मेला का ध्वज लिए घोड़ों पर सवार थे। इनके पीछे स्कूली विद्यार्थी खेल चेतना मेला का संदेश दे रहे थे। रैली का जगह-जगह स्वागत किया। नेहरू स्टेडियम पहुंचकर मार्चपास्ट के बाद रैली समाप्त हुई। इसमें 12 खेलों के लिए 60 स्कूलों के 5 हजार से अधिक खिलाड़ी शामिल हुए। राष्ट्रीय खिलाड़ी प्रेमलता मुरैना एवं अजीतेश ने खिलाडिय़ों को खेल भावना से खेलने की शपथ दिलवाई।

राष्ट्रीय स्पर्धाओं में प्रतिनिधित्व बढ़ा



फाउंडेशन अध्यक्ष चेतन्य काश्यप ने कहा रतलाम, नीमच व मंदसौर के 14 स्थानों पर खेल चेतना मेला के आयोजन से राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय स्पर्धाओं में खिलाडिय़ों की संख्या पांच गुना बढ़ी। आयोजन प्रदेशव्यापी स्वरूप ले ये उद्देश्य है। फाउंडेशन प्रणेता नीता काश्यप एवं सचिव मुकेश जैन ने स्वागत किया। मुख्य अतिथि माहेश्वरी ने गुब्बारे छोड़कर मेले का शुभारंभ किया। संचालन अब्दुल सलाम खोकर ने किया। आभार सचिव मुकेश जैन ने माना।



गुब्बारे छोड़कर खेल चेतना मेले का शुभारंभ करते किरण माहेश्वरी, शैलेंद्र डागा, चेतन्य काश्यप व अन्य।