• Hindi News
  • मालथौन के सहायक इंजीनियर को कारण बताओ नोटिस

मालथौन के सहायक इंजीनियर को कारण बताओ नोटिस

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नगर संवाददाता -!- सागर
मनरेगा के कार्यों में लापरवाही और उदासीन रवैया बरतने पर जनपद पंचायत मालथौन में पदस्थ मनरेगा के सहायक यंत्री आरके गुप्ता को जिला पंचायत सीईओ डॉ. वीरेंद्र सिंह रावत ने कारण बताओ नोटिस जारी किया है। गुप्ता से सात दिन में जवाब-तलब किया गया है। इस अवधि में संतोषजनक जवाब नहीं देने पर एकपक्षीय कार्रवाई किए जाने की चेतावनी दी गई है।
जिला पंचायत के मीडिया ऑफिसर डॉ. आरपी राय ने बताया कि जनपद पंचायत सीईओ मालथौन ने जिला पंचायत सीईओ को पत्र लिखकर मनरेगा योजना के तहत चल रहे कार्यों के प्रति सहायक यंत्री द्वारा लापरवाही और उदासीनता बरतने की जानकारी दी थी। पत्र में कहा गया था कि सहायक यंत्री मुख्यालय पर नहीं रहते और ऑफिस भी समय पर नहीं आते। जनपद पंचायत में मनरेगा योजना के तहत 2057 काम प्रगति पर हैं। इनमें से अभी तक केवल 378 कामों के डीपीआर फीड कराए गए हैं। इससे मस्टर तथा सामग्री की राशि का भुगतान समय पर नहीं हो पा रहा है। वित्तीय प्रगति भी प्रदर्शित नहीं हो रही है। उपयंत्री मस्टर मूल्यांकन के बाद एमबी सत्यापन के लिए सहायक इंजीनियर के समक्ष प्रस्तुत करते हैं। सहायक यंत्री समय पर सत्यापन नहीं करते। इससे भुगतान के देरी होती है। वित्तीय वर्ष 2013-14 में जनपद पंचायत को मिले लेबर बजट में से अब तक कुल 10 फीसदी बजट खर्च किया जा सका है। पत्र को गंभीरता से लेते हुए सीईओ जिला पंचायत ने सहायक यंत्री को शोकॉज नोटिस जारी किया है। नोटिस में कहा गया है कि मनरेगा के क्रियान्वयन में उदासीनता बरतने पर क्यों न प्रतिनियुक्ति समाप्त कर आपकी सेवाएं आपके विभाग को वापस कर दी जाएं।