• Hindi News
  • समाज गौरव और समाज रत्न के बाद अब विमल जैन को जैन भारत रत्न की उपाधि

समाज गौरव और समाज रत्न के बाद अब विमल जैन को जैन भारत रत्न की उपाधि

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ञ्चप्रज्ञा महर्षि पं. रत्न शास्त्री उपेंद्र मुनि महाराज ने मंत्रित माला पहनाकर किया सम्मानित
ञ्चकई सालों से समाज कल्याण के प्रोजेक्टों से जुड़े हैं आत्म वाल्व इंडस्ट्री के मालिक
भास्कर न्यूज -!- जालंधर
भगवान पाश्र्वनाथ जयंती के पावन अवसर पर जालंधर के जैन भवन में जुटी संगत को प्रभु के नाम से जोडऩे के बाद प्रज्ञा महर्षि पं. रत्न शास्त्री उपेंद्र मुनि महाराज ने मंत्रित माला पहनाकर विमल जैन को जैन भारत रत्न की उपाधि दी। इससे पहले विमल जैन को समाज ने 2002 में समाज गौरव की उपाधि दी थी। फिर साल 2011 में समाज रत्न की उपाधि से नवाजा। विमल वर्षों से समाज कल्याण और जागरूकता के प्रोजेक्टों से जुड़े हैं। इसी सेवा भावना के चलते तीसरी उपाधि दी गई है।
विमल जैन ने जालंधर में आत्म वॉल्व इंडस्ट्री की स्थापना की थी, जो आज देश का प्रमुख ब्रांड है। इसके साथ ही जैन शिक्षा के प्रसार और समाज कल्याण के प्रोजेक्टों से जुड़े हैं। रविवार को शहर के जैन भवन में उपेंद्र मुनि महाराज ने प्रवचन किए। संगत को प्रभु भक्ति से जोड़ा। इसके बाद विमल जैन को वही माला पहना दी, जिससे मंत्रोच्चारण किया था। साथ ही उन्हें जैन भारत रत्न की उपाधि देने की घोषणा की गई।
इस दौरान जैन समाज के प्रमुख संगठनों से जुड़े लोग उपस्थित थे, जिनमें मानव रत्न की उपाधि से नवाजे गए राम कुमार जैन लुधियाना, मंगल देश के प्रधान सुभाष जैन लिली, शरद जैन फरीदकोट की जैन सभा के प्रधान, जालंधर के जैव भवन के प्रधान सतीश जैन, जैन भवन के जनरल सेक्रेटरी पविंदर कुमार जैन, पंजाब के व्यापार मंडल के प्रधान अमृत लाल जैन, धर्मपाल जैन, मुस्कान जैन, मोती लाल जैन सहित तमाम लोग उपस्थित थे।



जैन भवन में भगवान पाश्र्वनाथ जयंती

भगवान पाश्र्वनाथ जयंती के मौके पर प्रज्ञा महर्षि पं. रत्न शास्त्री उपेंद्र मुनि महाराज की तरफ से पहनाई गई मंत्रित माला के साथ विमल जैन। उनके साथ हैं अमृतलाल जैन, राम कुमार जैन, धर्मवीर जैन, शरद जैन, मोती लाल जैन।-भास्कर