• Hindi News
  • देवर ने भाभी का मर्डर किया, ऑटो ड्राइवर की हुई हत्या

देवर ने भाभी का मर्डर किया, ऑटो ड्राइवर की हुई हत्या

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज - लुधियाना/खन्ना
पुलिस जिला खन्ना के तहत आने वाले विभिन्न थानों से में दो लोगों की हत्या होने के साथ दो अन्य लाशें मिली हैं। जहां थाना मलौद में एक देवर ने अपनी भाभी की हत्या कत्ल कर दी वहीं जीके एन्क्लेव में ऑटो ड्राइवर की हत्या कर दी गई। लाशें थाना दोराहा में पड़ती सरहिंद नहर के बठिंडा ब्रांच की झाडिय़ों में फंसी मिली हैं। युवक और युवती की मिली लाश के बारे में एसपी खन्ना का कहना है कि अनुमान लगाया जा रहा है कि लाशें पीछे से कहीं बह कर आई हैं।
मोहन सिंह निवासी गांव बुलारा ने बताया कि उसकी बेटी संदीप कौर की 7-8 साल पहले लहिल गांव के रणधीर सिंह के साथ शादी हुई थी। मगर बाद में दोनों का तलाक हो गया था। तीन साल पहले संदीप ने अपनी मर्जी से गौंसला गांव के बलवीर सिंह से शादी कर ली। एक साल पहले बलवीर सिंह की मौत हो गई। दोनों परिवारों की सहमति से बलवीर सिंह के बड़े भाई इंद्रजीत सिंह के सात संदीप कौर रहने लगी। इंद्रजीत पटियाला में ट्रक ड्राइवर था। इंद्रजीत संदीप को घर खर्च नहीं देता था। साथ ही महीनों तक घर नहीं लौटता था। संदीप को छोटे भाई बेअंत सिंह के साथ मजबूर करता था। संदीप को इस बात को लेकर एतराज था। संदीप कौर के पिता ने बताया कि वीरवार को जब उसे अपनी लड़की की संदिग्ध हालत में मौत की खबर मिली तो वह लड़की के घर पहुंचा। बेटी की छाती पर तेजधार हथियार के निशान थे। इसी शिकायत पुलिस को दी। शक के आधार पर पुलिस ने संदीप कौर के देवर बेअंत सिंह से पूछा तो उसने अपना जुर्म कबूल लिया। हत्या में इस्तेमाल की गई किरच भी बरामद हो गई है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।
वहीं खन्ना रेलवे लाइन के पास मोहल्ला दलीप सिंह नगर में एक ऑटो ड्राइवर की भी बेरहमी से हत्या कर दी गई। शुक्रवार सुबह साढ़े छह बजे पुलिस को सूचना मिली कि ललहेड़ी रोड पर रेलवे लाइनों पार जीके एन्क्लेव में एक लाश पड़ी है। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। खन्ना के एसपी राजविंद्र सिंह सोहल, एसएचओ सिटी खन्ना भुपिंद्र सिंह भुल्लर तथा जिला फिंगर प्रिंट माहिर पवनदीप सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। देखने पर पता चलता कि युवक को बड़ी बेरहमी से मारा गया था। जिसके गर्दन तथा पेट पर तेजधार हथियार के निशान थे। मरने वालों की पहचान ऑटो रिक्शा ड्राइवर निक्का निवासी दलीप सिंह नगर के रूप में हुई है। निक्का के पिता काका ने बताया कि बेटे को वीरवार रात पौने दस बजे विक्की नामक युवक बुलाकर ले गया था। बेटा सुबह तक वापस नहीं आया। उन्होंने बेटे की हत्या में विक्की पर शक जाहिर किया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव को उसके परिजनों को सौंप दिया। एसएचओ भुपिंदर सिंह भुल्लर के मुताबिक हत्यारा उनकी पकड़ से दूर नहीं है।