• Hindi News
  • आढ़ती को शक, जीजा ने भिजवाया था एक्सटॉर्शन मनी का एसएमएस

आढ़ती को शक, जीजा ने भिजवाया था एक्सटॉर्शन मनी का एसएमएस

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मैसेज भेजने वाले आरोपी का एड्रेस दिल्ली का निकला
पुलिस पार्टी जांच के लिए दिल्ली रवाना
भास्कर न्यूज -!- जालंधर
शक्ति नगर रहते सब्जी मंडी के आढ़ती रविंदर कुमार को मैसेज भेजकर एक्सटॉर्शन मनी मांगने वाले आरोपी को थाना दो पुलिस मंगलवार भी नहीं ढूंढ पाई। आढ़ती ने अपने ही जीजा पर मैसेज भिजवाने की आशंका जताई है। आढ़ती रविंदर कुमार का जीजा से विवाद चल रहा है। इस बारे में उसने पुलिस को बता दिया है। पुलिस ने नंबर का एड्रेस निकलवाया, जो दिल्ली का निकला। एड्रेस सही है या गलत, इसे जांचने के लिए जालंधर पुलिस दिल्ली रवाना हो गई है। बुधवार को टीम वापस लौटेगी।
आढ़ती रविंदर कुमार ने बताया कि 18 साल पहले उसकी बहन इंदू की शादी सुशील मदान के साथ हुई थी। इससे उसे एक बेटा है। उसकी बहन एमए इकनोमिक्स है। वह एक कंपनी में नौकरी करती थी और बच्चों को पढ़ाती भी थी, जिस कारण उसकी आमदन ज्यादा थी। जीजा कोई काम नहीं करते थे। उसकी बहन की तरफ से वित्तीय संस्थानों में पैसे जमा करवाए हुए थे, जिसका काफी ब्याज मिल जाता था। उसी से घर चलता था। अक्टूबर, 2012 को बहन लापता हो गई। उन्हें शक था कि जीजा ने ही बहन का अपहरण करवाया है। थाना दो में उन पर केस भी दर्ज हुआ था, लेकिन उनकी बहन का कोई सुराग नहीं लगा। अब उन्हें धमकी भरा मैसेज मिला है। उसे आशंका है कि जीजा ने किसी को कहकर उसे मैसेज करवाया हो। एसीपी सेंट्रल जसबीर सिंह राय का कहना है कि पार्टी दिल्ली गई हुई है। लौटने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, बाकी जांच जारी है। आढ़ती के अलावा बस्ती बावा खेल के एक सुनार को भी मैसेज आया है। उस पर भी जांच की जा रही है।
आढ़ती रविंदर कुमार के मोबाइल पर 3 जनवरी को मैसेज आया। उसमें लिखा था कि उसे 10 लाख रुपए की सुपारी दी गई है, तुम्हे मारने के लिए। पांच लाख रुपए मिल चुके हैं, बाकी काम के बाद मिल जाएंगे। तुम 11 लाख देकर बच जाओगे। रविंदर ने मैसेज को इग्नोर किया, जिसके बाद 5 जनवरी को फिर मैसेज आया और उसने पुलिस को सूचित किया है। थाना दो में अज्ञात पर केस दर्ज किया गया।



मेरा धमकी से कोई लेना-देना नहीं : सुशील

भास्कर ने रविंदर कुमार के जीजा सुशील कुमार से बात की। उसने बताया कि वह इन्वेस्टमेंट एजेंट है। 18 साल तक उनका पत्नी के साथ कभी विवाद नहीं हुआ। 2012 में पत्नी ने एक कंपनी में नौकरी करनी शुरू की। अक्टूबर, 2012 को उनकी पत्नी लापता हो गई। तब वह दिल्ली में थे। एक महीने बाद ससुराल परिवार ने उन पर केस दर्ज करवा दिया। मामले की जांच अभी भी चल रही है। वह सहयोग दे रहे हैं। उनका इस धमकी से कोई लेना-देना नहीं है। वह तो अपने काम में व्यस्त है। उनकी पत्नी अभी तक वापस नहीं लौटी है। उन्हें जानबूझ कर फंसाने की कोशिश की जा रही है।