• Hindi News
  • पहले आपत्ति नहीं सुनी, अब खोदनी पड़ रही 6 करोड़ की सड़कअनदेखी ! यूआईटी ने जलदाय विभाग की आपत्ति को क

पहले आपत्ति नहीं सुनी, अब खोदनी पड़ रही 6 करोड़ की सड़कअनदेखी-!-यूआईटी ने जलदाय विभाग की आपत्ति को किया था दरकिनार, पाइप लाइनों को नहीं किया बाहर, अब हो रहे लीकेजअनदेखी-!-यूआईटी ने जलदाय...

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोटा. विधानसभा चुनावों की जल्दबाजी में यूआईटी ने थर्मल से नांता चुंगी तक 6 करोड़ लागत वाली सीसी रोड बना दी, जबकि जलदाय विभाग आपत्ति जताता ही रह गया। जलदाय विभाग की दलील थी कि सड़क के नीचे की पाइप लाइनों को शिफ्ट करने के बाद सड़क बनाई जाए। अब नई समस्या खड़ी हो गई है। पाइप लाइन लीकेज हो गईं, जिन्हें सही करने के लिए दो महीने पहले पूरी हुई सड़क को फिर से तोड़ा जा रहा है। अब यूआईटीटी के अधिकारी कह रहे हैं कि जो भी हुआ है नियमों से ही हुआ है।

यही नहीं जलदाय विभाग के अधिकारियों का कहना है कि लीकेज के बावजूद कई दिनों से यूआईटी रोड कटिंग की अनुमति नहीं दे रहा। अब अनुमति मिली है और बुधवार से लीकेज को ठीक किया जाएगा। इसके लिए सोमवार से ही सड़क को खोदने का काम शुरू कर दिया गया।

दर्ज कराई थी आपत्ति
रोड बनाते समय जलदाय विभाग ने आपत्ति दर्ज कराई थी कि पहले विभाग की पाइप लाइनों को सड़क के किनारे किया जाए। इसके लिए चीफ इंजीनियर व संभागीय आयुक्त की ओर से यूआई को पत्र भी भेजे गए। यूआईटी प्रशासन ने इन पत्रों को दरकिनार करते हुए सीसी सड़कें बना दीं।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर.....