• Hindi News
  • मांगें मानने के बाद किसानों का धरना समाप्त

मांगें मानने के बाद किसानों का धरना समाप्त

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सुदरासन$ दिन में बिजली देने की मांग को लेकर किसानों ने सोमवार को सुदरासन के बिजलीघर पर धरना दिया। करीब 6 घंटे तक चले धरने के दौरान किसानों ने डिस्कॉम की नीतियों की जमकर खिलाफत की और अधिकारियों पर मनमानी करने के आरोप लगाए। धरने को संबोधित करते हुए किसान नेता भागीरथ यादव ने कहा कि अधिकारी मनमर्जी पर उतारु हैं। वे किसानों को कड़ाके की सर्दी में भी दिन की बजाय रात में बिजली दे रहे हैं। इससे किसानों को बिजली का लाभ नहीं मिल पा रहा है। सही समय पर पंप चालू नहीं होने और सिंचाई नहीं होने से किसानों की फसलें बर्बाद हो रही हैं। इस दौरान किसानों ने बिजली दिन में देने की मांग के साथ ही जीएसएस पर रात के समय स्टाफ की नियुक्ति किए जाने, लोड कम करवाने वाले काश्तकारों के लोड बिलों में समायोजित करने तथा ढीले तारों को कसवाने की भी मांग की।
किसानों के धरने की सूचना मिलने पर मौलासर के सहायक अभियंता तथा कनिष्ठ अभियंता मौके पर पहुंचे और किसानों से समझाइश की। बाद में विभागीय अधिकारियों ने किसानों की मांगों पर सहमति दी। तब जाकर किसानों ने धरना समाप्त किया। इस दौरान किसान सभा के रामेश्वर भाकर, दीनसिंह, भंवरलाल जाखड़, हीराराम दुदवाल, हीराराम तेतरवाल, मोहन जाखड़, इकबाल खान, बलदेवाराम आदि लोग मौजूद रहे।