• Hindi News
  • गुरु वचनों से सिख संगत निहाल

गुरु वचनों से सिख संगत निहाल

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज -!-मदनगंज किशनगढ़
ओसवाली मोहल्ला स्थित गुरुसिंह सभा गुरुद्वारे में मंगलवार को गुरु गोविंदसिंह जयंती पर महेन्द्र सिंह रागी जत्थे ने सबद कीर्तन कर सिख संगत को निहाल किया।
इस मौके पर लंगर का आयोजन किया गया। सिख समाज के लोगों ने श्रद्धा व सेवा भाव से लंगर में आने जाने वाले श्रद्धालुओं की सेवा की।
रागी जत्थे ने कहा कि गुरु गोविन्द सिंह ने धर्म के साथ देश व मातृ भूमि की रक्षाहित अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। खालसा मेरो रूप है खास, खालसा में करूं नित निवास, देह शिवा वर मोहे कहे सुभ कर्मन तु कबु न तरुं शबद किर्तन गाकर संगत को निहाल किया। समूह साध संगत ने सुखमनी साहिब तथा आसा दिवार का पाठ किया। सिख समाज के लोगों ने शाम को गुरुद्वारे में रोशनी कर गुरु को याद किया और उनसे विश्व में अमन शांति की अरदास की। गुरुद्वारे पर रोशनी की गई और समाज के लोगों ने एक दूसरे को प्रकाश पर्व की बधाई दी। इस दौरान समाज के जसवंत सिंह दारा, प्रदीप बधवा, सरदार अमन सिंह, तथा अन्य
मौजूद थे।