• Hindi News
  • कहा पद का मोह नहीं, राज्यपाल ने इस्तीफा मंजूर किया

कहा- पद का मोह नहीं, राज्यपाल ने इस्तीफा मंजूर किया

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोलकाता-!- पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस एके गांगुली का इस्तीफा मंगलवार को राज्यपाल एमके नारायणन ने मंजूर कर लिया। गांगुली ने त्यागपत्र में कहा कि और विवाद नहीं बढ़े, इसलिए वे पद से हट रहे हैं।
दिसंबर २०१२ में महिला लॉ इंटर्न से यौन उत्पीडऩ के आरोपी जस्टिस गांगुली को पद से हटाने का काफी समय से दबाव था। उन्हें पद से हटाने के लिए पिछले हफ्ते कैबिनेट ने प्रेसिडेंशियल रेफरेंस के प्रस्ताव को मंजूरी भी दे दी थी। इसके बाद गांगुली ने इस्तीफा देना ही बेहतर समझा।
जस्टिस गांगुली ने अपने इस्तीफे में कहा, क्रइलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया की खबरों में मुझ पर जिस तरह के आरोप लगे, वे बेबुनियाद हैं। मुझे हटाने के लिए माननीय राष्ट्रपति के पास भेजी गई सिफारिश भी जायज नहीं है। उसे गलत धारणा के साथ भेजा गया है।ञ्ज
उन्होंने आगे लिखा, क्रमैं मानवाधिकार आयोग का अध्यक्ष पद छोड़ रहा हूं। ताकि विवाद को और बढऩे से रोका जा सके। मेरे परिवार की खुशी व शांति बनी रहे। मुझे किसी पद का मोह
नहीं है। मौजूदा हालात में गरिमा के साथ पद पर बने रहना मुमकिन नहीं था।ञ्ज




विवाद न बढ़े, इसलिए दिया इस्तीफा : जस्टिस गांगुली