• Hindi News
  • ‘महावीर भगवान के सिद्धांतों को अपनाने की जरूरत’

‘महावीर भगवान के सिद्धांतों को अपनाने की जरूरत’

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नागौर. श्री विराग महिला मंडल नागौर एवं सुपाश्र्व जैन युवा मंच नागौर के तत्वावधान में शनिवार शाम स्थानीय चांदी के बाड़े में एक शाम महावीर के नाम का रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि जिला कलक्टर डॉ. वीणा प्रधान ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।
इस अवसर पर कलक्टर वीणा प्रधान ने कहा कि मनुष्य को महावीर भगवान के सिद्धांतों को वर्तमान में अपने जीवन में उतारने की जरूरत है। उन्होंने सत्य व अहिंसा के पथ पर चलकर मानव को नई राह दिखाई। वर्तमान में उनके आदर्शाे को जीवन में उतारकर चलने की जरूरत है। वे शनिवार देर रात चांदी के बाड़े में दिगम्बर जैन समाज के लोगों को संबोधित कर रही थी। इस अवसर पर नन्हें मुन्ने बच्चे हम एवं एक लघु नाटिका पूनिता, नमिता, पलक, प्रियंका, सिद्धी, रीतू, हर्षा द्वारा प्रस्तुत की गई। इसके साथ ही अंकिता द्वारा एकल नृत्य जब जुल्मों का हो सामना तब तू ही हमें थामना..., नमन सबलावत ने तीर्थ महावीर जी में बैठे महावीर एकल नृत्य प्रस्तुत किया। साथ ही अंजलि ने कुण्डल पुर के राजा का एकल नृत्य प्रस्तुत किया एवं सिद्धायनी व मोक्षा ने पंछीड़ा ओ पंछीड़ा केसरिया केसरिया युगल नृत्य परोडी डांडिया द्वारा नृत्य प्रस्तुत किया गया। जेके जैन व डॉ. विजय लक्ष्मी जैन द्वारा पूजा पाठ रचाओं मेरे बालम युगल नृत्य की बड़ी सुंदर प्रस्तुति दी। इससे पूर्व नीलू व पायल ने मंगलाचरण कर ईश वंदना की। इससे पहले कलक्टर डॉ. वीणा प्रधान का विराग महिला मंडल द्वारा शशि कानूगो ने माल्यार्पण एवं शॉल भेंट कर अभिनंदन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता उगमादेवी ने की। रमेश चंद्र जैन ने बताया कि इस अवसर पर दिगंबर जैन समाज के सभी लोगों ने इस कार्यक्रम का आनंद लिया। कार्यक्रम देर रात तक जारी रहा।
वहीं शहर के कुशल भवन में रावत जैन युवा मंच के कार्यकर्ताओं की ओर से शनिवार रात को ‘एक शाम भगवान महावीर के नाम’ कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में जय जैन महिला मंडल द्वारा मंगलाचरण एवं भगवान महावीर के जीवन पर संक्षिप्त प्रकाश डाला। उसके बाद नन्हे बालकों ने भजन, कव्वाली प्रस्तुत की।
अरिहंत मंडल द्वारा भगवान महावीर आप कैसे निकले घर छोड़कर की प्रस्तुति दी। मुदित ने कविता प्रस्तुत की। जय जैन बालिका मंडल द्वारा नाटिका हिंसा पर अहिंसा की विजय तथा जय जैन ज्ञान शाला के बच्चों द्वारा महावीर झूले पालना आदि सुंदर नाटक की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रकाश चन्द बोहरा ने की। समाज के प्रमुख सागर मल ललवाणी, रिखबचन्द नाहटा, नरेन्द्र गोयल आदि उपस्थिति रहे। रावत जैन युवा मंच के संजय ने कार्यक्रम का संचालन किया। सुरेन्द्र बागाणी, हर्ष चौरडिय़ा, नवीन जैन, कमलेश ललवाणी, महेश जैन आदि का कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग रहा।