• Hindi News
  • ३४.८० लाख में सरकार कराएगी विशेष आराधना

३४.८० लाख में सरकार कराएगी विशेष आराधना

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
चन्द्रशेखर कौशिक -!- जयपुर

मंदिर हो या दरगाह, चाहे गुरुद्वारा या फिर गिरजाघर। मलमास खत्म होते ही हर धार्मिक स्थल पर प्रदेश की उन्नति और विकास की कामना से सरकार की ओर से ‘विशेष’ आराधना का दौर चलेगा। इसके लिए राज्य की वसुंधरा सरकार ने बाकायदा विशेष बजट आवंटित किया।

राज्य ऐसे 108 धार्मिक स्थलों का चयन किया गया, जहां सरकार की ओर से ईशवंदना का आयोजन होगा। सुख-समृद्धि की कामना से देवस्थान विभाग के मंदिरों में महाआरती की जाएगी, तो दरगाहों पर चादरपोशी का दौर चलेगा। यही नहीं, गुरुद्वारों में अरदास और गिरजाघरों में प्रार्थना सभाएं होंगीं। सरकार द्वारा सभी विभागों से

तैयार कराई जा रही 60 दिन की विशेष कार्ययोजना के तहत देवस्थान विभाग की ओर से महाआरती व

सांस्कृतिक कार्यक्रम तय किए गए। शेष -!- पेज १३



सेना दिनभर जुटी रही, नहीं पता लगी लोकेशन

सूत्रों का कहना है कि प्रियंका राहुल गांधी को लेकर किसी एलान से पहले नेताओं के मन की टोह लेने पहुंची थीं। कांग्रेस की ओर से ये भी कहा गया कि प्रियंका महज पांच मिनट के लिए आई थीं। वो भी सोनिया व राहुल के अमेठी-रायबरेली के दौरे पर बात करने। उनके आने से पहले राहुल 50 मिनट की बैठक ले चुके थे।

१ राहुल को पार्टी की ओर से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किया जाए या नहीं।

२ लोकसभा चुनाव के मद्देनजर संगठन में जरूरी बदलाव कैसा हो।

३ भाजपा के पीएम प्रत्याशी मोदी और ‘आप’ द्वारा आ रही चुनौतियों पर भी चर्चा हुई।

राहुल गांधी के लिए प्रियंका मैदान में

बोरवेल के बगल में ५० फीट तक खुदाई

बोरवेल में ढाई सौ फीट तक कैमरा डालकर बच्चे की लोकेशन देखने की कोशिश बेनतीजा रही। पानी जरूर नजर आने लगा है। मंगलवार सुबह करीब 11:30 बजे खुदाई बंद करवा दी गई। बच्चे की तलाश देर रात तक जारी रही।

प्रदेश के प्रमुख धार्मिक स्थल, जहां होंगे आयोजन



बड़ी भूमिका में आने के संकेत

कांग्रेस के थिंक टैंक कहे जाने वाले नेताओं के साथ की बैठक

एजेंसी-!-नई दिल्ली

रायबरेली और अमेठी तक खुद को सीमित रखने वाली प्रियंका गांधी अब कांग्रेस में बड़ी भूमिका के संकेत दे रही हैं। प्रियंका मंगलवार सुबह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के घर पहुंचीं। वहां पार्टी के छह महासचिव, सोनिया गांधी के राजनीतिक सलाहकार अहमद पटेल और केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश पहले से मौजूद थे। कांग्रेस के थिंक टैंक कहे जाने वाले इन नेताओं से प्रियंका ने लंबी बातचीत की। राहुल वहां थे या नहीं इसके बारे में कुछ भी साफ नहीं है। प्रियंका की इस किस्म की यह पहली बैठक थी। बैठक में जनार्दन द्विवेदी, मधुसूदन मिस्त्री, मोहन गोपाल और अजय माकन भी मौजूद थे।

बैठक के बाद कयासों का दौर शुरू हो गया। वो भी ऐसा कि शाम आते-आते पार्टी प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी को सफाई देनी पड़ी। उल्लेखनीय है कि 16 जनवरी को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक है। कहा जा रहा है कि इसमें राहुल को प्रधानमंत्री प्रत्याशी घोषित करने पर मुहर लगेगी। शेष -!- पेज १३



सरकार प्रदेश के सभी संभाग और लगभग सभी जिलों में विशेष आराधना कराएगी। इसके लिए हर धर्म से जुड़े लोगों का ध्यान रखा जाएगा।

हिंदू : जयपुर के गोविंददेवजी मंदिर, मोतीडूंगरी गणेश मंदिर, खोले के हनुमानजी, रणथंभौर गणेश जी, खाटूश्यामजी, करौली में कैलादेवी, सालासर बालाजी, मेहंदीपुर बालाजी, उदयपुर में नाथद्वारा, बूंदी में इंद्रगढ़ तहसील का कमलेश्वर महादेव मंदिर, बीजासन माता मंदिर, कोटा में बड़े मथुराधीश पाटनपोल, झालावाड़ से पदम नाथजी सूर्य मंदिर झालरापाटन।

सिख : जयपुर के राजापार्क गुरुद्वारा सहित कोटा व उदयपुर के गुरुद्वारों में भी अरदास की जाएगी।

मुस्लिम : अजमेर शरीफ, डूंगरपुर में बोहरा समाज की दरगाह गलियाकोट, मस्तान बाबा उदयपुर, चारदरवाजा जियाउद्दीन शाह साहब, गागरोन किले में दरगाह मिट्ठे शाह।

ईसाई : जयपुर में चांदपोल के सेंट एंड्रयूज चर्च, उदयपुर में कैथोलिक चर्च।

सिंधी समाज : जयपुर में अमरापुरा स्थान।

जैन समाज : उदयपुर का ऋषभदेव मंदिर, देलवाड़ा व करौली का श्रीमहावीरजी मंदिर, दिगंबर जैन मंदिर चांदखेड़ी अतिशय क्षेत्र में होगी आराधना।

राज्य के 108 मंदिर, मस्जिद, चर्च और गुरुद्वारों में १५ जनवरी से चलेगा प्रार्थनाओं का दौर, सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे

बालक को निकालने के लिए खुदाई करती जेसीबी।

बोरवेल में गिरा ढाई साल का राधेश्याम।

३६ घंटे बाद भी बोरवेल से नहीं निकला मासूम

भास्कर न्यूज -!- सुजानगढ़/सांडवा ((चूरू))

चूरू के गांव तेलाप की रोही में बोरवेल में गिरे ढाई साल के बच्चे राधेश्याम को ३६ घंटे बाद ((बुधवार तड़के ३ बजे तक)) भी नहीं निकाला जा सका है। मंगलवार को जेसीबी से बोरवेल के आसपास ५० फीट तक खुदाई की गई। सेना भी दिनभर जुटी रही, लेकिन बच्चे की लोकेशन पता नहीं लग पाई। राधेश्याम खेलते समय 250 फीट गहरे बोरवेल में गिरा था। मोटर जलने से बोरवेल के पाइप निकाले हुए थे और बोरी से ढंक रखा था।



क्रिमिनल केस में आरोपी बरी हो तो अफसरों को

दें सजा : सुप्रीम कोर्ट

एजेंसी-!-नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि क्रिमिनल केस में आरोपी के बरी होने का मतलब है जस्टिस डिलीवरी सिस्टम की नाकामी। दूसरा पहलू यह भी है कि किसी निर्दोष के खिलाफ केस चलाया गया। यह नहीं होना चाहिए। राज्य सरकारें आरोपियों के बरी होने के मामलों की समीक्षा करें। जांच से जुड़े पुलिस अफसरों ने गलती की है तो उन्हें दंडित किया जाए।

कोर्ट ने कहा कि सभी राज्य सरकारें छह महीनों के भीतर अफसरों की ट्रेनिंग की व्यवस्था करें। ताकि किसी भी निर्दोष के खिलाफ झूठा मुकदमा न चले। न्याय सुनिश्चित हो सके। राज्य सरकार के गृह विभाग आरोपी के बरी होने के हर मामले से जुड़े रिकॉर्ड जुटाए। पता लगाए कि जांच और अभियोजन के दौरान क्या गलतियां हुईं। बेंच के मुताबिक यह देखा जाए कि गलती जान-बूझकर की गई या अफसर का दोष नहीं था। यदि गलती जान-बूझकर की गई है तो अफसर को सजा मिलनी चाहिए।



शिक्षकों को हटाने पर रोक

जलदाय विभाग में बदलेंगे भर्ती नियम

जलदाय विभाग में आठ महीने पहले शुरू हुई तकनीकी कर्मचारियों की भर्ती प्रक्रिया के नियम बदलेंगे। आवेदन भी दुबारा लिए जाएंगे। विभाग के चीफ इंजीनियरों व कार्मिक विंग से जुड़े अफसरों ने इसकी तैयारी तेज कर दी है। अब परीक्षा के अंकों के अनुसार पद से तीन या पांच गुना अभ्यर्थियों को बुलाकर इंटरव्यू लेंगे।



नगर संवाददाता -!- जयपुर

तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2012 के संशोधित परिणाम के बाद जारी नई कट ऑफ लिस्ट में कम अंक वाले प्रार्थी शिक्षकों को सेवा से हटाने के मामले में हाईकोर्ट ने फिलहाल यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया है। अदालत ने राज्य सरकार से कहा है कि वह अपीलार्थियों से भरे गए पदों को छोड़कर शेष पदों पर भर्ती प्रक्रिया जारी रखे। कोर्ट ने पंचायतीराज विभाग की ओर से अतिरिक्त महाधिवक्ता एसके गुप्ता की उपस्थिति मानकर 33 जिला परिषदों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। सुनवाई अब 23 जनवरी को होगी।

इस मामले में दायर अपीलों में एकलपीठ के 19 दिसंबर, 2013 के उस आदेश को चुनौती दी गई थी, जिसमें सरकार ने विशेषज्ञ कमेटी की सिफारिश पर जारी संशोधित परिणाम के बाद कम अंक वाले लेवल फस्र्ट के 287 व लेवल सैकंड के 2455 अभ्यर्थियों को हटाने का आदेश जारी किया था।





एसपी-कलेक्टर्स कॉन्फ्रेंस से २४ घंटे पहले ५५ आईपीएस अफसरों का तबादला

सी. संतोष तुकाराम होंगे बीकानेर के नए एसपी

जयपुर -!- कलेक्टर-एसपी कॉन्फ्रेंस से ठीक पहले मंगलवार शाम राज्य सरकार ने 55 आईपीएस अफसरों के तबादले कर दिए। ३३ एसपी बदले गए हैं। सी.संतोष तुकाराम बीकानेर के नए एसपी होंगे। एक दिन पहले ही सोमवार को 40 आईपीएस अफसर बदले गए थे। दो दिन में सरकार ने पूरा पुलिस महकमा बदल दिया। तबादला सूची में वे पांच आईपीएस अफसर भी हैं, जिनका हाल ही प्रोबेशनरी पीरियड समाप्त हुआ है। इनको डूंगरपुर, जैसलमेर, सिरोही, बारां और जालोर जिलों की जिम्मेदारी दी गई है। गहलोत सरकार के समय पोकरण विधायक सालेह मोहम्मद के पिता गाजी फकीर की हिस्ट्रीशीट खोलने को लेकर विवादों में आए आईपीएस पंकज कुमार चौधरी को बूंदी एसपी लगाया है। कलेक्टर-एसपी कॉन्फ्रेंस बुधवार सुबह ९:३० बजे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की अध्यक्षता में होगी।