• Hindi News
  • 2016 तक हर वयस्क के पास हो बैंक खाता

2016 तक हर वयस्क के पास हो बैंक खाता

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
समिति ने कहा है कि छोटे उद्योग चलाने वालों और निम्न आय वाले परिवारों के लिए अलग बैंक बनाए जाएं। ये उनके लिए हों, जो अपने खातों में अधिकतम 50 हजार रुपए का बैलेंस रखेंगे। ऐसी बैंकें 50 करोड़ रुपए के न्यूनतम पूंजीगत निवेश से स्थापित होंगी।



यह भी की सिफारिश

ञ्च बेस रेट से भी कम ब्याज दर पर किसानों को कर्ज देने की अनुमति बैंकों से वापस ली जाए।

ञ्चएकल सेवाओं के लिए कम से कम 10 नए तरह के बैंक शुरू किए जाएं।

ञ्च23 फीसदी के स्टेचुअरी लिक्विडिटी रेशियो को धीरे-धीरे कम किया जाए।

ञ्चसभी वित्तीय शिकायतों के निपटाने के लिए एकीकृत एजेंसी बने।





50 हजार तक रखने वालों का अलग बैंक

आधार कार्ड देते वक्त हर नागरिक का बैंक खाता भी खोला जाए

मुंबई-!- आरबीआई बैंकिंग क्षेत्र में आमूलचूल बदलाव लाने के पक्ष में है। वह चाहती है कि देश में जनवरी 2016 तक सभी वयस्कों के पास अपना बैंक खाता हो। सरकार जिस भी नागरिक को आधार कार्ड जारी करे, उसके साथ उसका बैंक खाता भी खोले। देश में हर कहीं हर 15 मिनट की दूरी पर पैसा निकालने और जमा करने की सुविधा मिले। आरबीआई की नचिकेत मोर की अध्यक्षता वाली समिति ने मंगलवार को दी रिपोर्ट में ये सिफारिशें की हैं। आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक रहे मोर की इस समिति की सिफारिशों पर अमल की संभावना ज्यादा है। रघुराम राजन ने आरबीआई गवर्नर का पद संभालते ही इसे गठित किया था। साथ ही, 25 कंपनियों के नए बैंक शुरू करने की अर्जी भी आरबीआई के पास लंबित है।





आरबीआई की समिति ने की सिफारिश