• Hindi News
  • सीएम के आदेश हवा गांवों में नहीं बिजली

सीएम के आदेश हवा गांवों में नहीं बिजली

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज-!-मोरनी
मोरनी खंड के हिमाचल सीमा से सटे हरियाणा के बहुत से गांव आज भी अंधेरे में डूबे हैं। प्रदेश सरकार के घर-घर गांव-गांव बिजली पहुचंाने के दावों की पोल राजीटिकरी और ठंड़ोग पंचायतों के दर्जनों गांवों की हालत देखकर खुल रही है। ग्रामीणों की शिकायतों के बाद भी सरकार बिजली की समस्या दूर नहीं कर पा रही है। मांच्यो गांव के लेागों ने अपने खर्च से हाइटेंशन तार से कनेक्शन कर खुद बिजली के तार जोड़ लिए हैं। पपलोहा गांव के पास से लेागों ने मंाच्यो गांव के लिए तार खुद खींच लिए है।
मंाच्यो, पपलोहा, बूंगा, ठंडूत, क्यार, महरौली, चाठियंा, साल्यो, रेड़वा, सापड़, धनीर, कोहलन, आधा खावा, ब्यूला, थार, जोग आदि कई गांव ढांणियां बिना बिजली के हंै। यहां पर किसी भी सरकार को इन गांवों की सुध नहीं आई यहां पर बिजली के बिना परेशान मंाच्यो गांव के लेागों ने कहा कि उन्होंने अपने पैसे से तार खरीद कर अपनी बिजली की ख्ुाद व्यवस्था करनी श्ुारू कर दी है। ग्रामीण प्रताप सिंह, दुर्गाराम, धनी राम , मान सिंह आदि ने बताया कि आजादी के इतने साल बाद भी उनको बिजली की रेाशनी नसीब नही हुई। हालंाकि मुख्यमंत्री चौधरी भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने गत दिनों मोरनी दौरे में बिजली से वंचित गांवों की सूचना पर हैरानी जताते हुए बिजली विभाग को इन गांवों में बिजली पहुंचाने के कडे आदेश दिए थे। लेकिन कई माह बीत जाने के बावजूद इन गांवों को बिजली से नहीं जोड़ा जा सका है।
उधर शिवालिक विकास बोर्ड के बैर सरकारी सदस्य डॉ. हरमेश ने कहा कि उन्होंने इन गांवों की इस समस्या को खुद मौके पर जाकर देखा है वह बोर्ड की बैठक मे इस मुददे को प्रमुखता से उठाकर इन गांवो को रेाशन करने के लिए नियमो मे छूट दिलवाने के लिए निजि तौर पर मुख्यमंत्री हरियाणा से मांग करेंगे। उन्होने कहा कि इस समस्या बारे सही जानकारी सरकार तक ना जाने से गांव बिजली रहित रहे मगर अब इन्हें मुख्यमंत्री हरियाणा के आशीर्वाद से रेाशन करवा दिया जाएगा।