• Hindi News
  • फुलकारी को दिलाई इंटरनेशनल मार्केट में पहचानफुलकारी क्रेज सिर्फ भारत के पंजाब तक ही सीमित नहीं

फुलकारी को दिलाई इंटरनेशनल मार्केट में पहचानफुलकारी क्रेज सिर्फ भारत के पंजाब तक ही सीमित नहीं है अब यह केनेडा, बेल्जियम से लेकर मेलबर्न तक अपनी जगह बना चुका है।

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी रिपोर्टर : चंडीगढ़
1996 में रोटरी क्लब के साथ हम बुजुर्ग लोग कहीं घूमने गए हुए थे।वहीं गार्डन में बातों ही बातों में रोटरी क्लब ने शहर की सीनियर सिटीजन संस्था बनाने का आइडिया दिया। उस समय10 से 15 बुजुर्ग वहां मौजूद थे। उनसे इस सब्जेक्ट पर चर्चा हुई और 1996 में बैसाखी के दिन यह एसोसिएशन बनी। चंडीगढ़ सीनियर सिटीजन एसोसिएशन के बारे में मौजूदाप्रेसिडेंट दिलजीत सिंह ग्रेवाल ने बताया। उन्होंने कहा, शुरुआत में इससे 15 से 20 मेंबर जुड़े। यह एसोसिएशन बनाने का खास मकसद था बुजर्गों को अपने एक्सपीरियंस शेयर करने के लिएमंच देना।जैसे जैसे वक्त बीता, एसोसिएशन से लोग जुड़ते गए। साथ ही इसमें एंटरटेनमेंट को भी शामिल किया गया ।एक्सपीरियंस के साथ लोगों को गेम्स खेलने का मौका मिला। सभी इकट्ठा होकर एक दूसरे को चुटकले सुनाते, गाने गाते और एंजॉय करते। मेंबर्स बढऩे के साथ ही एसोसिएशन के साथविभिन्न एक्टिविटीज जोड़ी गईं। हेल्थ केयर, एक्युप्रेशर, योग, हेल्थ क्लब, स्पोट्र्स एक्टिविटीज को लेकर कमेटी बनाई। इनसे एसोसिएशन के मेंबर्स को जोड़ा।
अब चंडीगढ़ सीनियर सिटीजन एसोसिएशन को बने 16 साल हो गए हैं। इसके 1700 मेंबर्स हैं। सीनियर सिटीजन के साथ यंगस्टर्सभी इससे जुड़े हैं।वे हमारी कल्चरल एक्टिविटीजका हिस्सा बनते हैं।ऐसे करीब पांच से छह एजुकेशनल इंस्टिट्यूट एसोसिएशन से जुड़े हैं। सीनियर सिटीजन मेंबर्स इनमें पढ़ रहे स्टूडेंट्स कोलेक्चर देने जाते हैं। उनसे मेंबर्स अपने लाइफ एक्सपीरियंस शेयर करते हैं। साथ ही सोशल वेल्यूज परबात करते हैं।



: हर महीने में दो बार सीनियर सिटीजंस की मीटिंग बुलाई जाती है। सभी मेंबर्स इसका हिस्सा बनते हैं। नई चीजों पर डिस्कशन करते हैं और अपने सुझाव देते हैं।

एसोसिएशन के

अन्य काम

ञ्चसभी मेंबर्स को पिकनिक पर ले जाया जाता है। साल में 5 डिफरेंट

स्पॉट्स की सैरकराई जाती है।

ञ्चहर साल एनवायर्नमेंट को लेकर साइकिल रैली कराते हैं। इससे स्कूल के बच्चे, पुलिसकर्मी से लेकर कई सीनियर सिटीजन जुड़े हैं। इसमें मेंबर्स पार्टिसिपेट करते हैं।

ञ्चकरीब 15 से 20 कमेटी एसोसिएशन के डिफरेंट प्रोग्राम का हिस्सा हैं। वे मेडिकल, हेल्थ केयर, एक्युप्रेशर, योग, स्पोट्र्स से जुड़ी चीजें मेंबर्स को कराती है।