पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • गोवा में आज से दो दिवसीय ब्रिक्स समिट पुतिन और जिनपिंग से मिलेंगे मोदी

गोवा में ब्रिक्स समिट- दुनिया की 43% आबादी वाले ब्रिक्स देश अलग बैंक के बाद अब बनाएंगे अपनी अलग क्रेडिट रेटिंग एजेंसी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पणजी. #BRICS2016 की शुरुआत से पहले नरेंद्र मोदी और रूस के प्रेसिडेंट व्लादिमीर पुतिन के बीच मीटिंग हुई। इसमें आतंकवाद, डिफेंस, एनर्जी डील समेत कुल 16 करार हुए। 40 हजार करोड़ रुपए की डिफेंस डील का एलान हुआ। S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम के अलावा आर्मी को कुल 200 हेलिकॉप्टर मिलेंगे। मोदी ने कहा, "रूसी कहावत है कि एक पुराना दोस्त दो नए दोस्तों से बेहतर। आतंकवाद से लड़ाई में भारत-रूस की सोच एक जैसी है। आतंकियों और उनको सपोर्ट करने वालों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की पॉलिसी अपनाई जाएगी।" करार के बाद मोदी ने क्या कहा...
- मोदी ने अपनी बात की शुरुआत और अंत रशियन लैंग्वेज में ही की। कहा- "रूस के साथ हमारी ऐतिहासिक दोस्ती रही है।"
- मोदी ने कहा, "पुतिन और मैंने कई मुद्दों पर चर्चा की। हम दोनों के बीच बातचीत काफी कंस्ट्रक्टिव रही। स्ट्रैटजिक पार्टनरशिप पर रूस ने भरोसा जताया है। रूस भारत को कामोव हेलिकॉप्टर देगा।"
- पीएम ने आगे कहा, "सिविल न्यूक्लियर पावर (कुडनकुलम-2, 3, 4) के लिए रूस के साथ समझौते किए गए हैं। हमने साइंस और टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में भी साथ आगे बढ़ने का फैसला किया है। ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट को लेकर भी दोनों देशों ने डील की है।"
- मोदी ने कहा, "दोनों देशों के बीच सालाना मिलिट्री इंडस्ट्रियल कॉन्फ्रेंस होगी।"
- विकास स्वरूप ने कहा कि दोनों देशों के बीच 16 समझौतों पर साइन हुए।
- मोदी ने कहा, ''दोनों देश एक-दूसरे के साथ मिलकर बेहतर भविष्य के लिए काम करेंगे। हम रूस के साथ इकोनॉमिक रिलेशन बढ़ाना चाहते हैं। आज भारत-रूस के बीच बिजनेस-इंडस्ट्री रिलेशन काफी गहरे हैं।''
- ''दोनों देशों के बीच एडमिरल ग्रिगोरोविच क्लास के स्टील्थ फ्रिगेट को लेकर भी करार हुआ। इंडियन नेवी को ये फ्रिगेट काफी ताकतवर बना देगा और वो करीब-करीब चीन की बराबरी पर आ जाएगा।''
भारत रूस से खरीदेगा एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम
- भारत रूस से पांच 'S-400 एंटी मिसाइल डिफेंस सिस्टम' और 200 'कामोव केए-226 टी' हेलिकॉप्टर खरीदेगा। 200 हेलिकॉप्टर सेना को मिलेंगे। 40 हेलिकॉप्टर रूस से आएंगे। बाकी देश में बनेंगे।
- वहीं, S-400 डिफेंस सिस्टम में 400 किमी दूर से आ रहे टारगेट को ट्रैक करने की कैपिसिटी रहेगी।
- यह पाकिस्तान या चीन की 36 न्यूक्लियर पावर्ड बैलिस्टिक मिसाइलों को एक वक्त में एक साथ टारगेट कर सकेगा। यह सिस्टम इंडियन आर्मी को जबरदस्त शील्ड देगा।
दूसरी बार समिट की मेजबानी कर रहा है भारत
- ब्रिक्स पांच देशों ब्राजील, रूस, भारत, चीन और साउथ अफ्रीका का ग्रुप है। यानी समिट में दुनिया की 43% आबादी का रिप्रेजेंटेशन होगा। इनकी कुल जीडीपी दुनिया की जीडीपी का 23.1% है।
- भारत इस समिट की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है। भारत ने ब्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ इकोनॉमिक रिसर्च एंड एनालिसिस और ब्रिक्स क्रेडिट रेटिंग एजेंसी का प्रस्ताव दिया।
- भारत समिट के जरिए पाकिस्तान को दुनिया से अलग-थलग करने की अपनी मुहिम को आगे बढ़ाएगा।
- पीएम नरेंद्र मोदी रूसी प्रेसिडेंट पुतिन और चीन के प्रेसिडेंट शी जिनपिंग से कई मुद्दों पर अलग से भी बात करेंगे।
- समिट के दौरान ही 'बिम्सटेक' की भी मीटिंग होगी। इसमें भूटान के पीएम, बांग्लादेश, नेपाल, श्रीलंका, थाईलैंड और म्यांमार के लीडर भी शामिल होंगे।

आगे की स्लाइड्स में पढ़ें : चीन के बाद सबसे ज्यादा कॉम्पिटीटिव इकोनॉमी है भारत...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें