--Advertisement--

ये है मुंबई का सीक्रेट मार्केट, आधी से कम कीमत में मिलता है ब्रांडेड सामान

एक समय इस मार्केट में केवल चोरी का सामान बिकता था, लेकिन समय के साथ ये ट्रेंड बदला।

Dainik Bhaskar

Jan 20, 2016, 12:07 AM IST
सुबह चार बजे के वक्त मुंबई की डेढ़ गली का नज़ारा : फाइल फोटो सुबह चार बजे के वक्त मुंबई की डेढ़ गली का नज़ारा : फाइल फोटो
मुंबई. ये है मेट्रो सिटी की डेढ़ गली। इसे सीक्रेट मार्केट भी कहते हैं। सुबह 4 बजते ही इस गली में आपको सैकड़ों की संख्या में व्यापारी और कस्टमर्स खरीद-फरोख्त करते नज़र आएंगे। यहां ब्रांडेड सामान को आप असली कीमत से कम दाम पर खरीद सकते हो।
सुबह 4-8 बजे तक चलता है ये बाजार...
- ये मार्केट मुंबई के कामठीपुरा इलाके के डेढ़ गली में लगता है।
- तड़के 4 बजे शुरू होने वाला ये मार्केट सुबह 8 बजे बंद हो जाता है।
- ऐसा कहा जाता है कि इस मार्केट की शुरुआत 1950 में हुई थी।
- शुरुआती दौर में मार्केट सिर्फ शुक्रवार के दिन लगा करता था, लेकिन अब मार्केट शुक्रवार और गुरुवार को लगता है।
किस वजह से सीक्रेट है ये मार्केट...
- कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुंबई के आसपास की छोटी फैक्ट्री से थोक में सामान आता है। इसे यहां कम दाम में हासिल किया जा सकता है।
- कुछ ब्रांडेड कंपनी से डिफेक्टेट सामान व्यापारी खरीदते हैं, जिसे रिपेयर कर उन्हें आधी कीमत में बेचा जाता है।
8 हजार का जूता सिर्फ 1500 में
एक मीडिया रिपोर्ट की मानें तो नाइक का एयरमैक्स 2014 स्पोर्ट्स रनिंग शू की कीमत जहां मार्केट में 8 हजार रुपए है, वहीं डेढ़ गली में यह करीब1500 रुपए में मिल जाता है। जबकि, कैट कंपनी का लेदर बूट जिसकी असली कीमत 8 हजार रुपए है, वह भी यहां करीब 800 रुपए में खरीदा जा सकता है।
बदला ट्रेंड, अब मेड इन चाइना
एक समय इस मार्केट में केवल चोरी का सामान बिकता था, लेकिन वक्त के साथ ये ट्रेंड बदला है। अब यहां कई छोटी कंपनीज और मेड इन चाइना सामान भी कम कीमतों में उपलब्ध हैं। अन्य सामानों की तुलना में यहां जूतों का मार्केट काफी बड़ा है।
करोड़ों का टर्नओवर...
मार्केट में सैकड़ों की तादाद में व्यापारी सामान बेचने आते हैं। माना जाता है कि यहां एक दिन में 15 से 20 करोड़ रुपए तक का बिजनेस होता है। छोटे शहरों के बिजनेसमैन यहां से बड़े पैमाने पर कम कीमत में सामान खरीदने आते हैं।
आगे की स्लाइड्स में देखें डेढ़ गली की PHOTOS, वीडियो देखने के लिए 6वीं स्लाइड में क्लिक करें...
मुंबई में ये बाज़ार 1950 में शुरू हुआ था : फाइल फोटो मुंबई में ये बाज़ार 1950 में शुरू हुआ था : फाइल फोटो
डेढ़ गली में बिकने आए डम्बल : फाइल फोटो डेढ़ गली में बिकने आए डम्बल : फाइल फोटो
डेढ़ गली मार्केट में अधिकतर खरीदार स्टूडेंट्स या यंगस्टर्स रहते हैं : फाइल फोटो डेढ़ गली मार्केट में अधिकतर खरीदार स्टूडेंट्स या यंगस्टर्स रहते हैं : फाइल फोटो
डेढ़ गली में जूतों का बड़ा मार्केट है: फाइल फोटो डेढ़ गली में जूतों का बड़ा मार्केट है: फाइल फोटो
Mumbai secret market in dedh galli
X
सुबह चार बजे के वक्त मुंबई की डेढ़ गली का नज़ारा : फाइल फोटोसुबह चार बजे के वक्त मुंबई की डेढ़ गली का नज़ारा : फाइल फोटो
मुंबई में ये बाज़ार 1950 में शुरू हुआ था : फाइल फोटोमुंबई में ये बाज़ार 1950 में शुरू हुआ था : फाइल फोटो
डेढ़ गली में बिकने आए डम्बल : फाइल फोटोडेढ़ गली में बिकने आए डम्बल : फाइल फोटो
डेढ़ गली मार्केट में अधिकतर खरीदार स्टूडेंट्स या यंगस्टर्स रहते हैं : फाइल फोटोडेढ़ गली मार्केट में अधिकतर खरीदार स्टूडेंट्स या यंगस्टर्स रहते हैं : फाइल फोटो
डेढ़ गली में जूतों का बड़ा मार्केट है: फाइल फोटोडेढ़ गली में जूतों का बड़ा मार्केट है: फाइल फोटो
Mumbai secret market in dedh galli
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..