• Hindi News
  • Local
  • Maharashtra
  • Mumbai
  • एडीआर की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश में दागी मंत्रियों के मामले में झारखंड अव्वल

महाराष्ट्र के 64 % और छत्तीसगढ़ के 8 % मंत्री दागी, झारखंड मामले में अव्वल

6 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल/रायपुर/मुंबई. देश में आपराधिक रिकॉर्ड वाले दागी मंत्रियों की संख्या के मामले में गैर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) शासित राज्य सरकारें अन्य से आगे हैं। वहीं पूर्वोत्तर की सात राज्य सरकारों के कुल आकलित मंत्रियों में से एक भी दागी नहीं है। हालांकि भाजपा शासित झारखंड दागी मंत्रियों की संख्या के मामले में देश के सभी राज्यों में अव्वल है, लेकिन देश के जिन आठ राज्यों में दागी मंत्रियों की संख्या 50 फीसदी से भी ज्यादा है, उनमें से केवल दो में भाजपा का शासन है।
- एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक देश के 29 राज्यों और दो केंद्र शासित प्रदेशों में दागी मंत्रियों के प्रतिशत के मामले में झारखंड 91 फीसदी के साथ अव्वल है।
- यहां के 11 में से 10 मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिनमें से नौ के खिलाफ गंभीर अापराधिक मामले हैं।
- रिपोर्ट के अनुसार देश के अाठ राज्यों के 50 फीसदी से ज्यादा मंत्री दागी हैं। महाराष्ट्र के 64 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं।
- केरल के 89 फीसदी (19 में से 17), तेलंगाना के 71 (17 में से 12), बिहार के 68 (28 में से 19), महाराष्ट्र के 64 (39 में से 25), दिल्ली के 57 (सात में से चार), उत्तर प्रदेश के 56 (57 में से 32) और आंध्र प्रदेश के 50 फीसदी (20 में से 10) मंत्री दागी हैं।
- इनमें से झारखंड और महाराष्ट्र में भाजपा, केरल में एलडीएफ, तेलंगाना में टीआरएस, बिहार में जेडीयू और आरजेडी के गठबंधन वाली महागठबंधन, दिल्ली में आम आदमी पार्टी, उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और आंध्रप्रदेश में तेलुगुदेशम के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार है।
खबरें और भी हैं...