रहस्य बना हुआ है इस झील का पानी, साइंटिस्ट नहीं खोज पा रहे राज / रहस्य बना हुआ है इस झील का पानी, साइंटिस्ट नहीं खोज पा रहे राज

इस झील के पानी पर आज भी देश-विदेश के कई साइंटिस्ट रिसर्च कर रहे हैं।

dainikbhaskar.com

Sep 20, 2015, 11:56 PM IST
बुलढ़ाणा जिले में स्थित लोनार लेक- फाइल फोटो बुलढ़ाणा जिले में स्थित लोनार लेक- फाइल फोटो
बुलढ़ाणा. 27 सितंबर को पूरे दुनिया में वर्ल्ड टूरिस्ट डे मनाया जाएगा। इस मौके पर dainikbhaskar.com आपको सिलसिलेवार देश के ऐसे टूरिस्ट स्पॉट के बारे में बताएगा है, जो दुनिया भर में अपने इतिहास और खूबसूरती के लिए मशहूर है। इस कड़ी में आज हम आपको महाराष्ट्र के बुलढ़ाणा ज़िले में स्थित 'Lonar Lake' के बारे में बता रहे हैं, जिसके पानी में हो रहा बदलाव आज भी रहस्य बना हुआ है।
उल्का पिंड की टक्कर से बनी थी झील
लोनार झील खारे पानी की झील है। साइंटिस्टों का मानना है कि यह झील उल्का पिंड की टक्कर से बनी है। इसका खारा पानी इस बात को दर्शाता है कि कभी यहां समुद्र था। इसके बनते वक्त करीब दस लाख टन के उल्का पिंड की टकराहट हुई। करीब 1.8 किलोमीटर डायमीटर की इस उल्कीय झील की गहराई लगभग पांच सौ मीटर है। इस झील के पानी पर आज भी देश-विदेश के कई साइंटिस्ट रिसर्च कर रहे हैं। कहा जाता है कि झील के पानी में समय-समय पर बदलाव होते हैं। यह बदलाव क्यों होते हैं इस बात पर आज भी रहस्य कायम है और कई साइंटिस्ट इस राज को जानने में जुटे हुए हैं।
तीन हिस्सों में टूटा था उल्कापिंड
पृथ्वी से टकराने के बाद उल्कापिंड तीन हिस्सों में टूट चुका था और उसने लोनार के अलावा अन्य दो जगहों पर भी झील बना दी। हालांकि अब अन्य दो झीलें पूरी तरह सूख चुकी है पर लोनार में आज भी पानी मौजूद है।
2006 में हुई अजीब हलचल
लगभग वर्ष 2006 के आसपास लोनर झील में अजीब-सी हलचल हुई थी, झील का पानी अचानक भाप बनकर खत्म हो गया। गांव वालों ने पानी की जगह झील में नमक और अन्य खनिजों (मिनरल्स) के छोटे-बड़े चमकते हुए क्रिस्टल देखे।
आगे की स्लाइड्स में देखें लोनर लेक की अनदेखी फोटोज...
लोनार लेक के किनारे बने प्राचीन मंदिर के सामने इस तरह के बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं - फाइल फोटो लोनार लेक के किनारे बने प्राचीन मंदिर के सामने इस तरह के बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं - फाइल फोटो
लोनार झील में मिले उल्कापिंड के अवशेष - फाइल फोटो लोनार झील में मिले उल्कापिंड के अवशेष - फाइल फोटो
लोनार लेक के आसपास खूबसूरत जंगल बना हुआ है, यहां अक्सर विदेशी पक्षी देखे जाते हैं-फाइल फोटो लोनार लेक के आसपास खूबसूरत जंगल बना हुआ है, यहां अक्सर विदेशी पक्षी देखे जाते हैं-फाइल फोटो
लोनर लेक के किनारे मौजूद जंगल - फाइल फोटो लोनर लेक के किनारे मौजूद जंगल - फाइल फोटो
लोनार लेक के पास स्थित मंदिर - फाइल फोटो लोनार लेक के पास स्थित मंदिर - फाइल फोटो
X
बुलढ़ाणा जिले में स्थित लोनार लेक- फाइल फोटोबुलढ़ाणा जिले में स्थित लोनार लेक- फाइल फोटो
लोनार लेक के किनारे बने प्राचीन मंदिर के सामने इस तरह के बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं - फाइल फोटोलोनार लेक के किनारे बने प्राचीन मंदिर के सामने इस तरह के बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं - फाइल फोटो
लोनार झील में मिले उल्कापिंड के अवशेष - फाइल फोटोलोनार झील में मिले उल्कापिंड के अवशेष - फाइल फोटो
लोनार लेक के आसपास खूबसूरत जंगल बना हुआ है, यहां अक्सर विदेशी पक्षी देखे जाते हैं-फाइल फोटोलोनार लेक के आसपास खूबसूरत जंगल बना हुआ है, यहां अक्सर विदेशी पक्षी देखे जाते हैं-फाइल फोटो
लोनर लेक के किनारे मौजूद जंगल - फाइल फोटोलोनर लेक के किनारे मौजूद जंगल - फाइल फोटो
लोनार लेक के पास स्थित मंदिर - फाइल फोटोलोनार लेक के पास स्थित मंदिर - फाइल फोटो
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना