पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Hindu Organizations Are Also Examined: Azmi

हिंदूवादी संगठनों की भी हो जांच : आजमी

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मुंबई. केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने भाजपा और आरएसएस के ट्रेनिंग कैंपों में आतंकवादी प्रशिक्षण दिए जाने के अपने बयान पर जिस दिन खेद व्यक्त किया, उसी दिन हैदराबाद में बम धमाके हुए।

लिहाजा इसकी जांच होनी चाहिए कि शिंदे के बयान और इस विस्फोट की वारदात में कोई लिंक तो नहीं है? यह बात सपा के प्रदेश अध्यक्ष विधायक अबू आसिम आजमी ने कही है।

सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि हैदराबाद विस्फोट और महाराष्ट्र के मालेगांव में हुए बम धमाकों में काफी समानता दिख रही है।

दोनों विस्फोट में साइकिल का इस्तेमाल हुआ है। आजमी ने मालेगांव विस्फोट मामले में एटीएस के पूर्व प्रमुख स्वर्गीय हेमंत करकरे द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि हैदराबाद विस्फोट मामले में मुस्लिम संगठनों के साथ साथ मालेगांव विस्फोट के आरोपी रामचंद्र, संदीप डांगे, अश्विन चौहान उर्फ अमित, भावेश पटेल, जयंतीभाई गोहिल, जयप्रकाश उर्फ अण्णा, मेहुल उर्फ रमेश भाई, रुद्र पाटील और दामोदर सुरेश नायर की भी भूमिका की जांच होनी चाहिए।

सपा विधायक का कहना है कि करकरे ने मालेगांव विस्फोट की जांच के दौरान पाया था कि पुणे के सिंहगड इलाके में हिंदूवादी संगठनों के ट्रेनिंग कैंप में करीब 500 लोगों ने आतंकवाद की ट्रेनिंग ली थी। इसमें से कुछ मालेगांव विस्फोट में शामिल थे और बाद में उनकी गिरफ्तारी भी हुई।