पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Chhina Railway Medical College: Health Manager Disclose Ramteke

छिना रेलवे मेडिकल कॉलेज : स्वास्थ्य महाप्रबंधक रामटेके का खुलासा

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नागपुर. विदर्भ की जनता रेलवे बजट से अनेक उम्मीद लगाए बैठी हंै। लेकिन बजट से पहले ही विदर्भवासियों को तगड़ा झटका दिया गया है।

पूर्व रेलमंत्री ममता बॅनर्जी द्वारा नागपुर में रेलवे मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा पर ग्रहण लग गया है। खुलासा हुआ कि नागपुर का नाम रेलवे मेडिकल कॉलेज की सूची में नहीं है।

तत्कालीन रेलमंत्री ममता बॅनर्जी द्वारा अपने बजट में देशभर में 15 रेलवे मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा की थीं। इसमें नागपुर भी शामिल था। लेकिन रेलवे स्वास्थ्य सेवा विभाग के महाप्रबंधक डॉ. वी.के. रामटेके ने चौंकाने वाला खुलासा किया कि मेडिकल कॉलेज की श्रेणी में नागपुर का नाम नहीं है।

रेलवे को देश की लाइफ लाइन माना जाता है। रेलवे से पूरे देश में रोजाना 2 करोड़ यात्री सफर करते हैं। रेलवे कर्मचारियों के बच्चों को अच्छी वैद्यकीय शिक्षा मिलने के साथ ही नागरिकों को अच्छी स्वास्थ्य सेवा मिलने के उद्देश्य से वर्ष 2009-10 में ममता बॅनर्जी ने भारत में भारतीय रेलवे की ओर से 5 मेडिकल कॉलेज बनाने की घोषणा की थीं।

घोषणा में नागपुर में भी मेडिकल कॉलेज बनने का जिक्र था। समय के साथ मेडिकल कॉलेज की संख्या अगले बजट में 15 कर दी गई थी। नागपुर में एक अच्छा उपक्रम होने से सभी में उत्साह था।

इसके लिए नागपुर मंडल की ओर से रेलवे कॉलेज के लिए गोधनी व एक अन्य जगह देख कर रखी थी। एमसीआर के नियमानुसार ये दोनों जगह 25 एकड़ की थी, किन्तु रेलवे मेडिकल कॉलेज के लिए राशि का कोई प्रावधान नहीं किया गया था।

ऐसे में यह प्रस्ताव ठंडे बस्ते में चला गया। 20 फरवरी को रेलवे बोर्ड स्वास्थ्य महाप्रबंधक का नागपुर में आगमन हुआ। उन्होंने अधिकारियों को संबोधित किया। कहा कि भारत में वर्तमान स्थिति में केवल 5 मेडिकल कॉलेज बनाने पर विचार हो रहा है। इसमें नागपुर का नाम नहीं होने का स्पष्ट किया। इस खुलासे से नागपुर से मेडिकल कॉलेज छीनने की खबर है।