पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

'क्लोजर रिपोर्ट' को अदालत ने ठुकराया

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नागपुर. गडकरी वाड़े में संदेहास्पद अवस्था में हुई योगिता ठाकरे की मृत्यु का प्रकरण बंद करने की प्रार्थना को लेकर सीआईडी की 'क्लोजर रिपोर्ट' को प्रथम श्रेणी न्यायदंडाधिकारी नीलिमा पाटील की अदालत ने ठुकरा दिया है।

नागपुर जिला अदालत ने गुरुवार को दूसरी बार 'क्लोजर रिपोर्ट' को ठुकराते हुए जारी अपने आदेश में कहा है कि प्रकरण की जांच हाईकोर्ट द्वारा दिए गए आदेश के अनुसार नहीं की गई है।

अदालत ने कहा है कि इस प्रकरण की जांच पुन: सीआईडी अथवा पुलिस को सौंपने का मतलब समय की बर्बादी होगी। अत: अब इस प्रकरण की सुनवाई निजी शिकायत के रूप में की जाएगी।

गौरतलब है कि जून 2009 में भाजपा के पूर्व अध्यक्ष नितिन गडकरी के बंगले में खड़ी कार में 7 वर्षीय योगिता ठाकरे संदेहास्पद अवस्था में मृत मिली थी।

मृतक की मां विमल अशोक ठाकरे ने पुलिस द्वारा इस मामले की जांच में लापरवाही बरतने और मामले के आरोपियों को बचाने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए हाईकोर्ट के समक्ष याचिका दायर की थी।

22 फरवरी की अन्य महत्वपूर्ण: