पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस उपनिरीक्षक रिश्वत लेते गिरफ्तार, चोरी के आरोपी से मांगी थी रकम

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नागपुर. प्रोबेशनरी पुलिस उपनिरीक्षक राजेश नारायणराव डाकेवाड को 30 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एसीबी ने गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने चोरी के आरोपी का पुलिस रिमांड समाप्त होने पर न्यायालय से जमानत होने के लिए कोई आपत्ति न होने की बात के लिए रिश्वत मांगी थी। कलमेश्वर थाने में कार्यरत उपनिरीक्षक राजेश को गुरुवार को भ्रष्टाचार प्रतिबंधक विभाग (एसीबी) के दस्ते ने कामठी स्थित ऑफिसर क्वार्टर्स में रिश्वत की रकम लेते पकड़ा गया। आरोपी राजेश को शुक्रवार को अदालत के समक्ष पेश किया जाएगा।
एसीबी से की शिकायत
सूत्रों के अनुसार कलमेश्वर निवासी एक व्यक्ति के भाई के खिलाफ थाने में चोरी का मामला दर्ज है। थाने के प्रोबेशनरी उपनिरीक्षक राजेश डाकेवाड प्रकरण की जांच कर रहे हैं। उस व्यक्ति के भाई को कलमेश्वर पुलिस ने रिमांड पर लिया था। रिमांड समाप्त होने पर उसे जेल भेज दिया गया। उसे जेल से जमानत पर छूटने के लिए पुलिस की ओर से कोई आपत्ति नहीं है। इसके लिए उपनिरीक्षक ने आरोपी युवक के भाई से 30 हजार रुपए की रिश्वत मांगी।
युवक के भाई ने गुरुवार को एसीबी अधीक्षक कार्यालय में उपनिरीक्षक के खिलाफ शिकायत की। उसके बाद मामले की छानबीन की गई। 30 हजार रुपए की रिश्वत की मांग करने की बात सच निकली। एसीबी के दस्ते ने उपनिरीक्षक को गिरफ्तार करने लिए जाल बिछाया। गुरुवार को राजेश ने रिश्वत की रकम लेकर कामठी के आफिसर क्वार्टर में बुलाया। उसने कहा कि उसका बंदोबस्त कामठी में लगाया गया है। गुरुवार को उसे कामठी में उसे दबोच लिया गया। आरोपी राजेश डाकेवाड के खिलाफ कामठी थाने में मामला दर्ज किया गया।