पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • The Commissioner Did Mnpa Busted Tax Evasion

मनपा आयुक्त ने ही किया चुंगी चोरी का भंडाफोड़

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

नागपुर. चुंगी चोरों व मनपा अधिकारियों के बीच साठगांठ होने के आरोप अक्सर लगते रहते हैं, लेकिन इस बार इस साठगांठ का भंडाफोड़ खुद मनपा आयुक्त श्याम वर्धने ने किया। इससे मनपा के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है।

मनपा ने सड़क की सफाई का ठेका स्वच्छता कारपोरेशन को दिया है। सड़क को मशीन से साफ किया जाता है। स्वच्छता कारपोरेशन ने 78 लाख 44 हजार की मशीन गत वर्ष नवंबर माह में नागपुर लाई।

दिसंबर में काम शुरू हुआ। मनपा ने इसके बदले मे स्वच्छता कारपोरेशन को एक माह का 17 लाख 54 हजार रुपए भुगतान किया। यह मशीन बगैर चुंगी चुकाए नागपुर लाई गई थी।

चुंगी चोरों के मददगार मनपा अधिकारियों ने कंपनी से दस गुणा जुर्माना लेने की बजाय फरवरी माह में मशीन शहर में आने का दिखावा किया और 3 लाख 13 हजार रुपए चुंगी ली। चुंगी चोरी की खबर अखबार में आने के बाद चुंगी विभाग ने दस गुणा जुर्माना वसूलने का नोटिस कंपनी को दिया।

मशीन से शहर की सड़कें साफ होने के बावजूद चुंगी अधिकारियों को यह मशीन दिखाई नहीं दे रही थी। अधिकारी कार्रवाई का महज दिखावा कर रहे थे। मशीन शहर से गायब होने की खबर उड़ाई गई।

मनपा आयुक्त श्याम वर्धने को अधिकारियों की गड़बड़ी का पता चला। मनपा आयुक्त ने मनपा को हुए नुकसान की वसूली स्वास्थ्य व चुंगी अधिकारी से कराने का निर्देश शुक्रवार को दिए।

मनपा आयुक्त के निर्देश से अधिकारियों में हड़कंप मच गया। अधिकारी मशीन खोजो अभियान में लग गए। चुंगी विभाग को सुरेंद्रगड़ में मशीन के ड्राइवर वैभव ठाकरे के घर के सामने मशीन खड़ी दिखाई दी। वैभव घर में नहीं था।

गिट्टीखदान पुलिस को बुलाकर मुआयना किया गया। मशीन पर नंबर प्लेट नहीं होने से यातायात पुलिस को भी बुलाया गया। पुलिस की उपस्थिति में चुंगी विभाग ने जामर लगाकर मशीन जब्त की।

आफत आती देख हुए सक्रिय

मनपा आयुक्त ने शुक्रवार को जो निर्देश दिए, उसकी गाज अधिकारियों पर गिरनेवाली थी। गाज गिरते देख चुंगी विभाग सक्रिय हुआ। चुंगी विभाग के प्रभारी अधिकारी मिलिंद मेश्राम शुक्रवार रात से ही काम पर लग गए।

संपत्ति कर विभाग से कंपनी के प्रशांत रतकंटीवार की जानकारी हासिल की गई। रात को ही प्रतापनगर में शेवालकर टावर स्थित मकान व कार्यालय की खोजबीन हुई। खापरी व कामठी रोड पर भी दबिश दी गई। वर्धा रोड पर स्थित कार्यालय में भी अधिकारी पहुंचे।