पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वेकोलि कर्मियों पर हो रहे जानलेवा हमले

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कन्हान/कामठी. कामठी सब-ऐरीया अंर्तगत कामठी ओसीएम खुली खान तथा इंदर खुली खान में कार्य करने वाले वेकोलि कर्मियों पर इन दिनों चोरों द्वारा जानलेवा हमले किए जा रहे हैं।

फलस्वरूप वेकोलि सुरक्षा कर्मियों में दहशत व्याप्त हैं। इस समस्या को लेकर आयटक के क्षेत्रीय अध्यक्ष जितेंद्र मल्ल के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल उपक्षेत्रीय प्रबंधक सुमन सौरभ से मिला तथा वेकोलि कर्मियों को सुरक्षा देने की मांग की।

कामठी उपक्षेत्रीय प्रबंधक अंर्तगत आने वाली कामठी ओसीएम खुली खान तथा इंदर खुली खान में वेकोलि द्वारा कोयला उत्खनन का कार्य किया जाता है। इन खानों में वेकोलि द्वारा कोयला उत्खनन में प्रयुक्त होने वाली सभी मशीनें, वाहन, शॉवेल होलपैक सहित अन्य सभी मशीनें खुले में ही रखी रहती हैं।

इन सभी की सुरक्षा के लिए वेकोलि कामठी उपक्षेत्रीय सुरक्षा अधिकारी कृष्णा नखाते द्वारा अलग-अलग स्थानों पर वेकोलि के ही सुरक्षा कर्मी लगाए जाते हैं। सुरक्षा कर्मियों को प्राय: तीन शिट में कार्य करना पड़ता हैं।

इन तीनों शिट में कार्य करने वाले सुरक्षा कर्मियों में 2 से 10 तथा 10 से 6 की शिट में कार्य करने वाले सुरक्षा कर्मियों पर कोयला, डीजल, केबल सहित अन्य कीमती समान चुराने वाले चोरों द्वारा हथियारों से लैस होकर हमला किया जाता है। इसमे यदि सुरक्षा कर्मी द्वारा प्रतिकार नहीं किया गया तो खैर वरना सुरक्षा कर्मी सीधे जवाहरलाल नेहरू चिकित्सालय पहुंच जाता है। ज्ञात हो की अभी भी वेकोलि प्रबंधन की ओर से सुरक्षा कर्मियों को सुरक्षा के व्यापक इंतजाम नहीं दिए गये हैं।

सुरक्षा कर्मियों द्वारा अंधेरे में रहकर वेकोलि की संपिा की रक्षा की जाती है। इसी क्रम में चोरों ने कामठी ओसीएम खुली ाान से डीजल तथा केबल चुराने का प्रयास किया, जिसमें शंभूनाथ श्रीकृष्ण निषाद द्वारा प्रतिकार करने पर चोरों ने हमला कर दिया, फलस्वरूप शंभूनाथ होप हास्पिटल में अपने टूटे हुए हाथ का इलाज करवा रहा है। जबकि इसके पूर्व भी अदुल रफीक पर चोरों ने हमला कर उसकी जांघ की हड्डी तोड़ दी थी।

भूवनेश्वर धनीराम, शिवमंगल यादव, मोहमद साजिद, दुर्गा प्रसाद तिवारी, कल्याणराव ईखार, केवल राम गिरहे, त्रिलोक सिंह, भूगन बधेलु, जाबिर अली जैसे कई वेकोलि के सुरक्षा कर्मी चोरों के हाथों पिट कर अपने शरीर का कोई न कोई हिस्सा तुड़वा चुके हैं। यहां तक की चोरों ने वेकोलि में ही सुरक्षा प्रहरी का कार्य करने रहमत अली की दो नाली बंदूक छीन ली थी, जो आज तक कन्हान पुलिस के लिए सिरदर्द बनी हुई है तथा बंदूक आज भी जत नहीं हो पाई हैं।

वेकोलि सुरक्षा कर्मियों पर हो रहे हमलों के विरोध में आयटक के क्षेत्रीय अध्यक्ष जितेंद्र मल्ल के नेतृत्व में ग्राम पंचायत टेकाडी सरपंच जितेंद्र चौहान, अरलनदास थॉमस, जी.आर. राव, यशवंत बर्वे, आशिफ खान, भैयालाल चमेले सहित अन्य आयटक के कार्यकर्ताओं का एक प्रतिनिधि मंडल उपक्षेत्रीय प्रबंधक सुमन सौरभ तथा उपक्षेत्रीय कार्मिक प्रबंधक पी.के. टायटस से मिल कर सुरक्षा कर्मियों के कार्यक्षेत्र में लाइट की उचित व्यवस्था, खान सीमा पर बाड़ लगाने, सुरक्षा कर्मियों की संया बढ़ाने आदि की मांग का ज्ञापन में की गई।

इस अवसर पर सूरज गोमेकर, वसीम शेख, संग्रामसिंह चौहान, अरुण कश्यप, राजबाबू यादव, मोनू केशरवानी, आजाद कनोजिया, अजहर शेख, नदीम शेख, सलीम शेख, योगेश मेश्राम का समावेश था।