विज्ञापन

#UriAttack: एक महीने पहले शुरू हुई थी शादी की बात, अब उठने वाली है अर्थी

Dainik Bhaskar

Sep 19, 2016, 12:29 PM IST

एक महीने पहले सिपाही संदीप की शादी की बात शुरू हुई थी और अब उनकी अर्थी उठने वाली है। संदीप की शहादत की खबर से पूरे नासिक में शोक का माहौल है।

शहीद संदीप ठोक बिहार रेजीमेंट में तैनात थे। शहीद संदीप ठोक बिहार रेजीमेंट में तैनात थे।
  • comment
नासिक: लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) से महज कुछ किलोमीटर दूर उरी सेक्टर में रविवार को आर्मी हेडक्वॉर्टर के पास हुए आतंकी हमले में महाराष्ट्र के नासिक के रहने वाले संदीप सोमनाथ ठोक भी शहीद हुए हैं। सोमवार रात संदीप का पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। एक महीने पहले सिपाही संदीप ठोक की शादी की बात शुरू हुई थी। नम आंखों से दी गई विदाई...

- शहीद संदीप का पार्थिव तकरीबन 7 बजे उनके गांव खड़ागली पहुंचा।

- जैसे ही उनका पार्थिव गांव पहुंचा सभी की आंखें नम हो गई।

- गांव में उनके आखिरी सफर से पहले उनके शव को आम लोगों के दर्शन के लिए रखा गया।

- सैकड़ों लोगों की भीड़ अपने इस सपूत को अंतिम सलाम देने के लिए खड़ागली पहुंची थी।

- 'भारत माता की जय', ‘शहीद संदीप ठोक अमर रहे’ की जयघोष के साथ संदीप को अंतिम विदाई दी गई।

- संदीप को उनके भाई योगेश ने मुखाग्नि दी।

पढ़ाई बीच में छोड़ ज्वाइन की आर्मी..
- संदीप की प्रारंभिक शिक्षा खडांगली में ही हुई। यहां से वे 'डी फार्मा' करने नासिक चले आये।
- देश सेवा का जुनून संदीप पर इस कदर हावी हुआ कि उन्होंने 'डी फार्मा' की पढ़ाई बीच में ही छोड़ आर्मी ज्वाइन कर ली।
- 2014 में आर्मी ज्वाइन करने वाले संदीप बिहार रेजीमेंट में लांस नायक थे। इनकी पहली तैनाती उरी सेक्टर में हुई थी।
एक महीने पहले शुरू हुई थी शादी की बात
- 25 वर्षीय शहीद संदीप ठोक के एक साधारण किसान परिवार से आते हैं।
- उनके पिता सोमनाथ ठोक गांव में खेती करते हैं। संदीप की दो बड़ी बहने भी हैं, दोनों की शादी हो चुकी है।
- आर्मी ज्वाइन करने के बाद संदीप की शादी के लिए माता-पिता दबाव बना रहे थे।
- एक महीने पहले ही संदीप के लिए एक रिश्ता आया था। संदीप को लड़की की फोटो भी भेजी गई थी।
- परिवार के सदस्यों के मुताबिक संदीप को लड़की पसंद भी थी। बात लगभग फाइनल हो गई थी।
- संदीप के पिता ने बताया कि, इससे पहले की संदीप की शादी हो पाती, उनकी अर्थी उठाने का वक्त आ गया।
3 अन्य जवान भी महाराष्ट्र से
- सोमवार को हॉस्पिटल में इलाज के दौरान घायल हुए सिपाही विकास कुलमेथे का निधन हो गया।
- आर्मी कैंप पर हुए इसे आतंकी हमला में महाराष्ट्र के दो और जवान भी शहीद हुए हैं।
- इनमें सतारा के लांस नायक चंद्रकांत शंकर गलांडे का नाम भी शामिल है।
- बिहार रेजीमेंट में कार्यरत अमरावती के सिपाही जानराव भी इस आतंकी हमले में शहीद हुए हैं।
- जवानों की शहादत की खबर मिलने के बाद से इनके गांवों में मातम का माहौल है।
- सोमवार शाम को स्पेशल प्लेन से इनके पार्थिव को पुणे लाया जाएगा। यहां से सड़क मार्ग द्वारा द्वारा इन्हें इनके गांव ले जाया जाएगा।
सबसे बड़ा आतंकी हमला
- पाकिस्तान से आए आतंकवादियों ने कश्मीर में आर्मी पर अब तक का सबसे बड़ा हमला किया है।
- आर्मी के उरी ब्रिगेड हेडक्वार्टर पर रविवार तड़के हुए इस हमले में 18 जवान शहीद हो गए। इनमें से 13 की मौत टेंट में लगी आग से जिंदा जलने से हुई।
- मौके पर मौजूद एक जवान के मुताबिक आतंकी 3.30 बजे कैंप की पिछली दीवार से घुसे। करीब पौने दो घंटे तक नाइट विजन से कैंप का जायजा लिया।
- फिर 5.15 बजे फ्यूल टैंक से डीजल भर रहे निहत्थे जवानों पर धावा बोल दिया। 3 मिनट में 17 ग्रेनेड दागे।
- जानकारी के मुताबिक, इस हमले से 150 मीटर इलाके में फैले टेंट और बैरकों में आग लग गई।
- डीजल टैंक में धमाका होते ही आतंकवादी अलग-अलग होकर बैरकों में घुस गए।
- वहां मौजूद 19 साल के डोगरा जवान ने एक आतंकी को मार गिराया। बाकी तीन बुरी तरह जख्मी थे। उस जवान के हेलमेट पर भी गोली लग चुकी थी। उसे साथी जवानों ने बाहर निकाला।
- बैरक खाली थे। आतंकी वहां दूसरे फ्लोर तक पहुंच गए। बाद में हेलीकॉप्टर से पहुंचाए गए 4 पैरा के कमांडो ने बचे तीन आतंकियों को मार गिराया।
आगे की स्लाइड्स में देखिए, शहीद संदीप और उनके गांव में पसरे मातम की PHOTOS..

संदीप ने दो साल पहले आर्मी ज्वाइन की थी। संदीप ने दो साल पहले आर्मी ज्वाइन की थी।
  • comment
शहादत की खबर के बाद से गांव में मातम पसरा है। शहादत की खबर के बाद से गांव में मातम पसरा है।
  • comment
संदीप की एक महीने पहले शादी की बात शुरू हुई थी। संदीप की एक महीने पहले शादी की बात शुरू हुई थी।
  • comment
संदीप ने पढ़ाई बीच में छोड़ आर्मी ज्वाइन की थी। संदीप ने पढ़ाई बीच में छोड़ आर्मी ज्वाइन की थी।
  • comment
संदीप के पिता एक साधारण किसान हैं। संदीप के पिता एक साधारण किसान हैं।
  • comment
संदीप के घर के बाहर बैठे परिजन। संदीप के घर के बाहर बैठे परिजन।
  • comment
Sandeep thok from nasik martyred in uri attack.
  • comment
X
शहीद संदीप ठोक बिहार रेजीमेंट में तैनात थे।शहीद संदीप ठोक बिहार रेजीमेंट में तैनात थे।
संदीप ने दो साल पहले आर्मी ज्वाइन की थी।संदीप ने दो साल पहले आर्मी ज्वाइन की थी।
शहादत की खबर के बाद से गांव में मातम पसरा है।शहादत की खबर के बाद से गांव में मातम पसरा है।
संदीप की एक महीने पहले शादी की बात शुरू हुई थी।संदीप की एक महीने पहले शादी की बात शुरू हुई थी।
संदीप ने पढ़ाई बीच में छोड़ आर्मी ज्वाइन की थी।संदीप ने पढ़ाई बीच में छोड़ आर्मी ज्वाइन की थी।
संदीप के पिता एक साधारण किसान हैं।संदीप के पिता एक साधारण किसान हैं।
संदीप के घर के बाहर बैठे परिजन।संदीप के घर के बाहर बैठे परिजन।
Sandeep thok from nasik martyred in uri attack.
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन