विवादों में रहे सहायक पुलिस आयुक्त ढोबले का तबादला

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

मुंबई. लंबे अरसे से विवादों में रहे सहायक पुलिस आयुक्त वसंत ढोबले का आखिर शनिवार को तबादला कर दिया गया। शुक्रवार को सांताक्रुज इलाके में ढोबले की पेट्रोलिंग के दौरान एक फ ेरीवाले की दिल का दौरा पडऩे से मौत हो गई थी।

गृह विभाग ने ढोबले के खिलाफ शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उनका तबादला मुंबई के मुख्य पुलिस कंट्रोल रूम में कर दिया।

सूत्रों के अनुसार शुक्रवार को ढोबले जब सांताक्रुज में पेट्रोलिंग कर रहे थे तभी उन्हें देखकर फेरीवालों में भगदड़ मच गई। मदन जैसवाल नामक फे रीवाला भी उनमें था।

भागमभाग में जैसवाल बेहोश होकर गिर पड़ा। फेरीवालों का आरोप है कि ढोबले ने उसे थप्पड़ मारा था जिसके कारण वह घबरा गया और बाद में उसकी मौत हो गई। वीएन अस्पताल में जैसवाल को इलाज के लिए ले जाया गया पर लहां उसकी मौत हो गई।

ढोबले को तत्कालीन पुलिस आयुक्त अरूप पटनायक का भरोसेमंद अधिकारी माना जाता था। तब ढोबले सामाजिक सेवा शाका में थे और अकसर होटलों व पबों में छापे मारते थे। शिकायतों के कारण नए आयुक्त सत्यपाल सिंह ने ढोबले क ो वाकोला इलाके में नियुक्त किया पर उनकी कार्रवाई जारी रही। साथ ही शिकायतें भी बढ़ती रहीं।

पिछले हफ्ते कांग्रेस सांसद प्रिया दत्त की अगुवाई में एक प्रतिनिधमंडल ने मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण व गृहमंत्री आरआर पाटील से मिलकर ढोबले पर कार्रवाई की मांग की थी।

इस बीच ढोबले ने दावा किया है कि उन पर गलत आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि जब कार्रवाई हो रही थी तब वे अपनी गाड़ी में ही बैठे थे।