पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

24 घंटे में पुलिस आयुक्त को बदलने की मांग

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नागपुर। नागरी सुरक्षा को लेकर आखिरकार व्यापारियों के सब्र का बांध टूट ही गया। उन्होंने दो टुक कहा कि पुलिस आयुक्त के नाम का खौफ अपराधियों के दिल से खत्म हो चुका है। नागपुर में बढ़ते अपराधों पर कोई अंकुश नहीं रह गया है। शुक्रवार को जेजानी के निवास पर आयोजित पत्र परिषद में व्यापरियों ने कहा कि शहर में चरमराती कानून व्यवस्था से वे संतुष्ट नहीं हैं। पुलिस आयुक्त को जिम्मेदार ठहराते हुए 24 घंटे के भीतर तबादला करने की मांग राज्य सरकार से की है। दोनों आरोपी प्यादे पुलिस ने अभी दो प्यादे पकड़े है। यह गिरोह के लिए काम कर रहे हैं या नहीं इसकी जांच होनी चाहिए। जिस संतोष आंबेकर के नाम से उसने व्यापारियों का जीना दुश्वार कर रखा था। उससे भी पुलिस को पूछताछ करने की मांग व्यापारियों ने की। व्यापारियों का आरोप है कि वह दोपहर के समय कार्यालय से बाहर आकर उन्हें फोन करता था। जेजानी ने आरोपियों के साथी विशाल जानोरकर के शामिल होने की शंका जाहिर की है। ढिलाई का आरोप व्यापारियों ने रोष व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस चाहती तो जब अजनी थानांतर्गत देशमुख के घर के सामने इसी तरह आरोपियों ने बम विस्फोट कर डराया था। उसी समय पुलिस एक्शन लेती तो अब तक इस गिरोह के मुखिया तक पहुंच चुकी होती। व्यापारियों ने आरोप लगाए हैं कि शहर में पिछले 4 महीने से व्यापारियों को मोबाइल पर धमकियां मिल रही थी। इसकी शिकायत थानों में किए जाने के बाद साइबर क्राइम सेल के पास भी की गई। वह धमकी देने वाले मोबाइल का लोकेशन ही पता नहीं कर पा रहे थे। उसके बाद जिन व्यापारियों को धमकी मिली थी। वे सभी एक जगह जेजानी के घर में इकट्ठे होकर आरोपियों के मोबाइल का पता लगाने की योजना बनाई। इसमें उन्हें सफलता भी मिली। सुनील जेजानी ने कहा कि उनकी पहचान मंत्री नितीन राऊत, अनिल देशमुख और सीधा गृहमंत्री आर. आर. पाटील से नहीं होती तो यह प्रकरण भी अजनी निवासी श्री देशमुख की तरह दबकर रह जाता। देशमुख ने फोन उठाना जब बंद कर दिया था, तब आरोपी ने उन्हें एसएमएस किया कि फोन नहीं उठाने से कुछ नहीं होगा। अब तेरी बेटी के चेहरे को तेजाब से खराब करेंगे। व्यापारियों का आरोप है कि अपराध पुलिस शाखा के कारण वह पकड़ में नहीं आ पाया। वरना वह देशमुख के समय ही पुलिस की गिरफ्त में आ जाता। व्यापारियों ने थोक के भाव में बिना जांच पड़ताल के सिम बेचने वाली दो कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की मांग की है। पत्र परिषद में व्यापार जगत के दीपेन अग्रवाल, विशाल अग्रवाल ,रोहित बजाज, गोविंद पोद्दार, संतोष अग्रवाल, सुनील तुलसियान, कैलाश जोगानी, नागलवार, श्री देशमुख व अन्य पीड़ित वपारी उपस्थित थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

और पढ़ें