जमानत पर हैं शहनाज अख्तर, फतवे के बाद भी गाती हैं देवी जागरण / जमानत पर हैं शहनाज अख्तर, फतवे के बाद भी गाती हैं देवी जागरण

Bhaskar News

Oct 21, 2012, 02:09 AM IST

जब सलमान खान की गणेश पूजा पर कुछ लोगों ने आपत्ति दर्ज की थी उसी दौरान शहनाज के खिलाफ भी फतवा जारी हुआ था।

Shahnaz Akhtar on bail, after fatwa sings keep on singing Devi geet
नागपुर. कला को साधने की धुन ने दुनियादारी को समझने का मौका ही नहीं दिया। हर मामले में अपरिपक्व थी।
जेल की यात्रा ने बहुत कुछ सिखाया। अब नये सिरे से जिंदगी संवार रही हूं। ऊपरवाले ने बुरे दिन दिखाए, अब वे ही अच्छे दिन भी दिखाएंगे। आलोचनाओं से मेरा मन कतई नहीं दुखता।
यह कहना है जागरण गीत गायिका शहनाज अख्तर का। महाकौशल व छत्तीसगढ़ में जागरण गीत के लिए प्रसिद्ध शहनाज अब शहनाज उपाध्याय हो गई हैं। मांग में सिंदूर व गले में मंगलसूत्र उनके धार्मिक परिवर्तन को बयां करते हैं।
पांव पैजनियां एलबम के साथ लोकप्रिय हुई शहनाज मध्यप्रदेश के सिवनी जिले के बरघाट की निवासी हंै। लोकभाषा में उनके देवी जागरण गीतों की ग्रामीण क्षेत्रों में धूम रहती है।
उन पर आरोप लगता रहा है कि देवी गीत की तरह कव्वाली या अन्य गीत जानबूझकर नहीं गाती है। अभिनेता सलमान खान की गणेश पूजा पर कुछ लोगों ने आपत्ति दर्ज की थी।
उसी दौरान शहनाज के खिलाफ भी फतवा जारी हुआ था। उन्हें धार्मिक मर्यादा की नसीहतें दी जाती रही है। करीब दो वर्ष पूर्व शहनाज को जेल जाना पड़ा था। उनके पति व देवर को मुख्य आरोपी बनाया गया था।
एक युवक की हत्या के मामले में आरोप लगा था कि शहनाज ने परिवार के लोगों की मदद से रास्ते का कांटा हटाने का काम किया। फिलहाल वह जमानत पर है। जेल से छूटने के बाद उसने विशिथ उपाध्याय के साथ नए सिरे से जिंदगी को संवारना शुरू किया है।
नागपुर में करीब सप्ताह भर तक जागरण कार्यक्रम बुक है। इसके बाद रायपुर में जागरण कार्यक्रम है।
दैनिक भास्कर से विशेष चर्चा में शहनाज कहती हैं, संकट के दिनों से उन्हें उनके गुरु ने पहले ही आगाह किया था। कार हादसे में वानर की मृत्यु का प्रतिफल भुगतने के संकेत दिए थे।
होनी-अनहोनी तय समय पर ही हुई। ईश्वरीय शक्ति को नमन करते हुए वह कहती हैं, अब मेरा कर्म ही धर्म है।
फिल्मों में गाने के सवाल पर कहती हैं, फिल्मों के लिए फिलहाल खुद को परिवक्व नहीं मानती, लेकिन हर मौके को उचित तौर से भुनाने की पूरी कोशिश जारी रहेगी। सब कुछ खोकर बहुत कुछ पाना है।
X
Shahnaz Akhtar on bail, after fatwa sings keep on singing Devi geet
COMMENT