पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • पारसडोह डेम की जमीन के 572 सौदों पर निकाली 6.50 करोड़ की रिकवरी, जलसंसाधन ने जमा किए

पारसडोह डेम की जमीन के 572 सौदों पर निकाली 6.50 करोड़ की रिकवरी, जलसंसाधन ने जमा किए

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
6. 50 करोड़ रुपए महंगा हो गया पारसडोह प्रोजेक्ट

भास्कर संवाददाता| बैतूल

पारसडोह में बन रहे जिले के सबसे बड़े बांध की अधिग्रहित की गई सभी जमीनों की रजिस्ट्रियों पर डिस्ट्रिक रजिस्ट्रार कार्यालय ने 6 करोड़ 50 लाख के पंजीयन शुल्क की रिकवरी निकाले जाने से जलसंसाधन विभाग में हड़कंप मचा है। बड़ा प्रोजेक्ट होने के कारण, जलसंसाधन विभाग ने बांध का काम अटकने के डर से 6 करोड़ 45 लाख रुपए जमा भी करवा दिए है। इस तरह बांध का काम अटकने पर आया संकट फिलहाल टल गया है।

ताप्ती नदी पर 64 एमसीएम क्षमता का पारसडोह डेम बनाया जा रहा है। इसके निर्माण के लिए शासन ने 572 जमीनों का अधिग्रहण किया है। जमीनों की रजिस्ट्रियों पर पूर्व में छूट दिए जाने की प्लानिंग रजिस्ट्री कार्यालय की थी, लेकिन आईजी कार्यालय पंजीयन से मिले आदेश के बाद अब की गई रजिस्ट्रियों पर स्टाम्प शुल्क और पंजीयन शुल्क की रिकवरी निकाली है। डीआर कार्यालय ने सभी 572 रजिस्ट्रियों का एनालिसिस करके स्टाम्प शुल्क और पंजीयन शुल्क का एमाउंट निकाला है। जलसंसाधन विभाग ने 5 लाख रुपए बाद देने का कहकर 6.45 करोड़ रुपए जमा कर दिए है। उल्लेखनीय है यह डेम 384 करोड़ रुपए की राशि से बन रहा है।

बारिश के कारण रुका है, पारसडोह बांध का काम

फिलहाल पारसडोह बांध का काम रुका हुआ है। बारिश के कारण काम कर रही निर्माण एजेंसी करन डेवलपर्स ने यह काम रोक दिया है।

नोटिस जारी किया है
पारसडोह बांध निर्माण के लिए अधिग्रहित की गई जमीनों की रजिस्ट्रियों पर 6 करोड़ 50 लाख रुपए की स्टाम्प शुल्क और पंजीयन शुल्क की रिकवरी निकालते हुए जलसंसाधन विभाग को नोटिस जारी किया गया। 572 रजिस्ट्रियों पर यह राशि निकाली गई है। निकाली गई राशि में 5 लाख रुपए छोड़कर पूरी राशि जलसंसाधन विभाग की ओर से जमा करवा दी है। पांच लाख रुपए बाद में देने की बात जलसंसाधन ने कही है। दिनेश कौशले, डिस्ट्रिक रजिस्ट्रार

खबरें और भी हैं...