पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • हिनोतिया आलम में दस एकड़ में बनेगा आपदा ट्रेनिंग सेंटर

हिनोतिया आलम में दस एकड़ में बनेगा आपदा ट्रेनिंग सेंटर

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
गोयल-अकील में नजदीकी बढ़ी, नए राजनीतिक समीकरण बने
भोपाल | प्रदेश में डिजास्टर मैनेजमेंट के लिए अब आमजन को तैयार किया जाएगा। इसके लिए इन लोगों को ट्रेनिंग देकर वॉॅलेंटियर्स तैयार किए जाएंगे। आपदा आने पर इन लोगों की मदद ली जाएगी। इसके निर्माण में 300 करोड़ खर्च आएगा। बाढ़, भूकंप सहित अन्य आपदाओं के प्रभावितों तक फौरन राहत पहुंचाने के लिए अब भोपाल में प्रदेश का पहला डिजास्टर ट्रेनिंग सेंटर बनाया जा रहा है। इसमें सभी विभाग के कर्मचारियों को आपदा से निपटने की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसके लिए जिला प्रशासन ने हिनोतिया आलम में दस एकड़ जमीन आरक्षित की है। एसडीआरएफ के रीजनल कमांडेंट एसएस सोलंकी का कहना है कि प्रदेश के पहले आपदा ट्रेनिंग सेंटर के लिए जमीन मिलने के बाद प्रस्ताव सरकार को भेजा जाएगा।







मंजूरी मिलते ही काम शुरू किया जाएगा।







हुजूर एसडीएम कमल सोलंकी का कहना है कि हिनोतिया आलम में राज्य आपदा प्राधिकरण के लिए करीब दस एकड़ जमीन का प्रस्ताव भेजा गया है।









प्रस्ताव मंजूर होते ही ट्रेनिंग सेंटर का काम शुरू कर दिया जाएगा। एनडीआरएफ कराएगा ट्रेनिंग

नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एनडीआरएफ) और स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (एसडीआरएफ) मिलकर यहां आम लोगों को आपदा से पीड़ित लोगों की मदद करने की ट्रेनिंग के लिए प्रोत्साहित करेंगे। एनजीओ के सदस्यों को भी इस ट्रेनिंग सेंटर से जोड़ा जाएगा।



एसओपी से मिलेगी तुरंत मदद

स्टैंडर्ड आॅपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) से अलग-अलग शहरों को जोड़ा जाना है। इसमें जिस जगह पर आपदा से पीड़ित लोगों को मदद पहुंचाई जानी है, उस क्षेत्र के अधिकारी और स्वयं सेवकों को सूचना देकर मदद के लिए भेजा जाएगा।

जमीन मिलने के बाद शुरू करेंगे काम

प्रदेश के पहले आपदा ट्रेनिंग सेंटर के लिए जमीन मिलने के बाद प्रस्ताव सरकार को भेजा जाएगा। मंजूरी मिलते ही काम शुरू किया जाएगा।

एसएस सोलंकी, रीजनल कमांडेंट एसडीआरएफ

खबरें और भी हैं...