पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • दिसंबर में जिसका वर्क ऑर्डर किया निरस्त दो माह बाद उसी कंपनी को दे दिया काम

दिसंबर में जिसका वर्क ऑर्डर किया निरस्त दो माह बाद उसी कंपनी को दे दिया काम

5 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कीलनदेव और तुलसी अपार्टमेंट के निर्माण में देरी के कारण दिसंबर में हाउसिंग बोर्ड ने जिस एमबीएल इंफ्रास्ट्रक्चर का वर्क आर्डर निरस्त कर दिया था। दो महीने बाद फिर उसी को काम सौंप दिया है। एमबीएल इंफ्रास्ट्रक्चर ने वादा किया है कि तुलसी अपार्टमेंट 7 महीने में और कीलनदेव 8 महीने में बनकर तैयार हो जाएगा। बोर्ड अफसरों ने इस वादे को सच मान लिया।

तुलसी अपार्टमेंट आवंटी एसोसिएशन के अध्यक्ष अमित जैन कहते हैं कि हमें इस बात से सरोकार नहीं है कि अपार्टमेंट कौन सी कंपनी तैयार कर रही है, लेकिन यह सवाल जरूर है कि जिस कंपनी ने पांच साल में करीब 50 फीसदी काम किया है वह सात और आठ महीने में बाकी काम कैसे पूरा कर देगी?

इस प्रोजेक्ट के प्रभारी असिस्टेंट इंजीनियर पॉल एक्का ने कहा कि अन्य कंपनियां शेष काम के लिए अधिक राशि की मांग कर रही थी, जिससे लागत बढ़ जाती। इसलिए बोर्ड ने पुरानी कंपनी के अनुबंध को ही पुनर्जीवित करने का निर्णय लिया। हम भी कंपनी पर दबाव बनाए हुए हैं। उधर, महादेव अपार्टमेंट को लेकर हाईकोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में आवंटियों को बढ़ी हुई दर पर रजिस्ट्री कराने को कहा है, लेकिन अंतिम निर्णय यदि आवंटियों के पक्ष में होता है तो बोर्ड को यह रकम लौटाना पड़ेगी।

खबरें और भी हैं...