पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • सड़क सुधार के सुझाव की बैठक में विधायकों का ध्यान गिफ्ट और सैर सपाटे पर रहा

सड़क सुधार के सुझाव की बैठक में विधायकों का ध्यान गिफ्ट और सैर सपाटे पर रहा

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
इधर, प्लानिंग कमीशन ने पूछा- कितनी सड़कें बनाएंगे
दो माह बाद हो रही पीडब्ल्यूडी परामर्शदात्री समिति की बैठक में विधायकों को सड़क पर सुझाव देना था, लेकिन उनका पूरा ध्यान गिफ्ट और सैर-सपाटे पर ही रहा। दोपहर एक बजे बैठक शुरू हुई। इसी बीच पीडब्ल्यूडी के निर्देशों व कार्यप्रणाली पर लिखी एक किताब को विमोचन के लिए लाया गया। चूंकि उसे गिफ्ट की तरह पैक किया गया था, लिहाजा सतना जिले की रैगांव सीट से बसपा विधायक उषा चौधरी ने पूछ लिया कि क्या ये गिफ्ट है? जब उन्हें किताब होने का पता चला तो उन्होंने चुटकी ले ली कि ऐसी बैठक बुलाते हैं तो विधायकों को कुछ उपहार भी दिया जाए। इस दौरान पीडब्ल्यूडी मंत्री रामपाल सिंह समेत पीडब्ल्यूडी के अधिकारी मौजूद रहे। हर माह में दो बार होने वाली यह बैठक दो माह बाद हो रही थी। बैठक के दौरान इंदौर जिले की देपालपुर सीट से विधायक मनोज निर्भय सिंह ने कहा कि सत्र के समय यह बैठक न रखी जाए। तभी उज्जैन जिले की नागदा सीट से विधायक दिलीप सिंह शेखावत ने सुझाव दे दिया कि अगली बैठक हनुवंतिया पर्यटन स्थल पर की जाए। यह सुझाव सुनकर सभी मुस्कुरा दिए। इसके बाद विधायकों ने यह भी कहा कि भोपाल के अलावा अन्य जगहों पर बैठक की जानी चाहिए। शेखावत ने यह सुझाव भी दिया कि 10 व 15 साल पुरानी सीमेंट कांक्रीट की सड़कों पर डामर कर दिया जाए। इसे दोबारा सुधारा तो नहीं जा सकता, लेकिन डामर करने से इसकी लाइफ बढ़ जाएगी।

ब्रिज के ऊपर लगाओ प्रतिमा: उषा चौधरी ने कहा कि सतना में बन रहा फ्लाई ओवर आंबेडकर की प्रतिमा के ऊपर से गुजर रहा है। ऐसा नहीं होना चाहिए। प्रतिमा फ्लाई ओवर के ऊपर रखो तभी हम ब्रिज बनाने देंगे। इस पर सहमति बन गई।

खबरें और भी हैं...