चंबल नदी से ऊंट के जरिए राजस्थान जा रही अवैध रेत / चंबल नदी से ऊंट के जरिए राजस्थान जा रही अवैध रेत

चंबल सेंक्चुरी से रेत की तस्करी, वह भी ऊंट से। है न अजीब बात, लेकिन चंबल से रोज ऊंट पर लादकर रेत को राजस्थान ले जाया जा रहा है।

रविकांत गुप्ता/ओपी गोले

May 28, 2017, 05:25 AM IST
चंबल नदी के सुखध्यान घाट पर ऊंट पर लदेे बोरों में रेत भरते युवक। चंबल नदी के सुखध्यान घाट पर ऊंट पर लदेे बोरों में रेत भरते युवक।
मुरैना/ग्वालियर. चंबल सेंक्चुरी से रेत की तस्करी, वह भी ऊंट से। है न अजीब बात, लेकिन चंबल से रोज ऊंट पर लादकर रेत को राजस्थान ले जाया जा रहा है। ऊंट नदी से होकर रेत को उन गांवों तक पहुंचा रहे, जहां प्रशासन की कड़ाई के कारण ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से रेत पहुंचना संभव नहीं है।
सुखध्यान का पुरा, होलापुरा, चुसलई सहित अन्य गांवों के ग्रामीण रोजी-रोटी के लिए ऊंट से रेत का परिवहन कर रहे हैं। राजस्थान के घाट से गांव की दूरी आधा किलोमीटर है। यहां 100 से 150 रुपए रेत खरीददार से लेते हैं।
इस पर रोक लगाई जाएगी
चंबल का रेत प्रतिबंधित है। ऊंट से भी यदि इस रेत का परिवहन किया जा रहा है तो वह भी गलत है। हो सकता है किन्हीं घाटों पर ऐसा हो रहा हो, हम दिखवाते हैं। इस पर रोक लगाई जाएगी।
एए अंसारी, डीएफओ, मुरैना
आगे की स्लाइड्स में देखें, फोटो...
रेत भरकर राजस्थान सीमा की ओर जाते ग्रामीण। रेत भरकर राजस्थान सीमा की ओर जाते ग्रामीण।
X
चंबल नदी के सुखध्यान घाट पर ऊंट पर लदेे बोरों में रेत भरते युवक।चंबल नदी के सुखध्यान घाट पर ऊंट पर लदेे बोरों में रेत भरते युवक।
रेत भरकर राजस्थान सीमा की ओर जाते ग्रामीण।रेत भरकर राजस्थान सीमा की ओर जाते ग्रामीण।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना