पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • सरकार कमर्शियल हितों का बहुत ध्यान रखती है, जरा कम्यूनिटी हितों का भी ध्यान रख ले तो बेहतर होगा।

सरकार कमर्शियल हितों का बहुत ध्यान रखती है, जरा कम्यूनिटी हितों का भी ध्यान रख ले तो बेहतर होगा।

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
विदेश से क्या मंगा रहे हैं ऋतिक?...pg 12

ऋतिकरोशन ने पहले कभी अपने घर में इंटीरियर डिजाइनिंग की फिक्र नहीं की, क्योंकि उनकी पूर्व प|ी सुजैन खान यह जिम्मेदारी संभालती थीं।



सरकार के पास कम्यूनिटी के लिए जगह नहीं

राज्य सरकार नए विवाह स्थल पंजीयन नियम में प्रावधान करके ओपन स्पेस और बगीचों में भी शादियों के आयोजन की अनुमति देने जा रही है। दिक्कत यह है कि नए भोपाल शहर में विवाह आयोजनों के लिए कोई जगह नहीं है। जो मैरिज गॉर्डन हैं, उनका किराया इतना ज्यादा है कि आम जनता उसे वहन करने में असमर्थ है। विभिन्न समाजों को सामुदायिक भवन बनाने के लिए सरकार से सस्ती जमीनें मिलीं, लेकिन उनका मकसद भी इन भवनों से कमाई करना ही रह गया है। ऐसे में नागरिकों के लिए तो यह मजबूरी है कि कम्यूनिटी हाॅल के अभाव में वे विवाह आयोजनों के लिए खुले स्थलों, स्कूलों या बगीचों की राह ताके। सरकार ने भी इसके आसान उपाय के तौर पर बगीचों में आयोजनों की अनुमति देने का फैसला किया है। इससे अगर बगीचे बर्बाद हों तो हों। क्या अच्छा नहीं होगा कि सरकार आबादी के हिसाब से हर शहर में जगह-जगह नए कम्यूनिटी हाॅल बनवाए। सरकार कमर्शियल हितों का बहुत ध्यान रखती है, अगर कम्यूनिटी हितों का भी ध्यान रखे तो बेहतर होगा। {खबरची