पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • सिंचाई के पानी से कई रिहायशी इलाके जलमग्न

सिंचाई के पानी से कई रिहायशी इलाके जलमग्न

7 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नहरको आरसीसी से पक्का करने के कारण यह पानी खेतों में पहुंचने के बजाय कॉलोनियों और खुली जगह पर इकट्‌ठा हो रहा है। कुछ जगह तो क्रॉसिंग या पुलिया बनाकर लगाए गए ह्यूम पाइप भी छोटे पड़ गए। पाइप छोटे होने की वजह से पानी के बहाव से आसपास की जमीन में कटाव शुरू हो गया है। इस स्थिति को देखने के लिए गुरुवार को अमला भी पहुंचा।

बरसात के मौसम जैसा है हाल

नहर का पानी इंडस फेस-2 महेंद्रा टाउनशिप, लावन्या फिटनेस सेंटर के पीछे की तरफ फैल रहा है। वहीं एक्स्टॉल कॉलेज के सामने एक ओर ऐसा पानी भर गया है, जैसे बारिश में तालाब भर जाते हैं। दरअसल यहां सड़क की ऊंचाई नहर के समान होने से यह स्थिति बनी है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि नहर से लगातार पानी बह रहा है और शहर के कई इलाकों में डेंगू की स्थिति काफी भयावह है। रहवासियों को डेंगू के साथ ही पानी एकत्र होने से मच्छरों के पनपने का भी डर बना हुआ है।

पेज 1 का शेष

कहीं ऊंची, कहीं नीची

नहर के आसपास आवासीय क्षेत्र की वजह से नहर को नीचे से चौड़ा और ऊपर से संकरा कर आरसीसी से बनाया गया है। इसमें कई जगह सड़क से भी कम ऊंची दीवार बनी है। इससे पानी कॉलोनियों में फैल गया। कायदे से टोपोग्राफी के अनुसार नहर की दीवार की भी ऊंचाई तय की जाना चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

नहर साफ, सड़क गंदी

बीते दिनों बागसेवनिया क्षेत्र में नहर की साफ-सफाई की गई। इस दौरान नहर से निकली गंदगी को सड़क किनारे फेंक दिया गया। लेकिन इस गंदगी को उठाने कोई नहीं आया। इस कारण क्षेत्र के लोगों का बदबू से बुरा हाल है।