मप्र में आडवाणी की सभा का नहीं खुला खाता

8 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल. प्रदेश में दूसरे चरण के लोकसभा चुनाव में भी महज चार दिन बचे हैं। भाजपा प्रत्याशी लगातार सभाओं की डिमांड कर रहे हैं, लेकिन उनकी इस डिमांड में पार्टी के शीर्ष नेता लालकृष्ण आडवाणी पिछड़ते जा रहे हैं। ज्यादातर प्रत्याशी या तो भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी या मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की सभाओं की मांग रहे हैं।
उधर, दिल्ली से आडवाणी के सहायक दीपक चौपड़ा लगातार मप्र की पार्टी इकाई से संपर्क साध रहे हैं। पहले चरण के चुनाव से पहले प्रदेश इकाई द्वारा झाबुआ और बड़वानी में आडवाणी की सभाएं तय की गईं थी, लेकिन ऐन वोटिंग के एक दिन पहले उसे निरस्त कर दिया गया।
इसके बाद 16 अप्रैल को फिर उन्हीं स्थानों पर दो सभाएं रखे जाने का कार्यक्रम बनाया जा रहा है, हालांकि इसे लेकर भी प्रत्याशियों की कुछ खास रुचि नहीं है। प्रदेश इकाई पूरी कोशिश कर रही है कि दूसरे या तीसरे चरण के खत्म होने से पहले आडवाणी की कम से कम चार सभाएं तो हो जाएं। प्रदेश में राजनाथ सिंह और सुषमा स्वराज की भी सभाएं हो चुकी हैं।