पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Daughters Leave School With No Toilet : Tharoor

टॉयलेट नहीं होने से स्कूल छोड़ देती हैं बेटियां : थरूर

9 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भोपाल। एकपूर्व आईएएस अधिकारी एमएन बुच ने महिलाओं को हद में रहने की सलाह दी है। उन्होंने कहा अब भी हमारे समाज की मानसिकता हरियाणवी (पिछड़ी हुई) है। तमाम आधुनिकता के बावजूद हमारा समाज घर से बाहर निकलने वाली और मनमर्जी के कपड़े पहनने वाली महिला को संभ्रांत मानने को राजी नहीं है।
उधर, केंद्रीय मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री शशि थरूर ने कहा कि देश में बड़ी संख्या में ऐसे विद्यालय है जहां आज टॉयलेट नहीं है। इसी का नतीजा है कि अनेक बालिकाएं माध्यमिक कक्षाओं के बाद स्कूल जाना छोड़ देती हैं।
बुच और थरूर रविवार को यहां महिला सशक्तिकरण को लेकर आयोजित एक कार्यशाला में बोल रहे थे। थरूर ने कहा कि स्कूलों में टॉयलेट नहीं होना बालिकाओं की शिक्षा में अभी भी बड़ा अवरोध है। उन्होंने महिलाओं और बालिकाओं के उत्थान से जुड़ी सभी समस्याओं का एकमात्र समाधान उनकी बेहतर शिक्षा बताते हुए कहा कि इस दिशा में सभी को मिलजुलकर काम करना चाहिए।
25 फरवरी की अन्य बड़ी खबरें